मुख्यमंत्री ने किया हाईकोर्ट के दिशा निर्देशों का स्वागत, बोले: व्यवहारिक दृष्टि से जितना संभव होगा वो किया जाएगा

कोरोना : स्थिति पर नजर रखने के लिए राज्य व जिला नोडल अधिकारी नियुक्त

शिमला: मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत के दौरान कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए अनेक प्रभावी कदम उठा रही है।

उन्होंने कहा कि अभी तक प्रदेश में कोरोना वायरस के 8 संदिग्ध मामले पाए गए थे। उन सभी की रिपोर्ट आ गईं है और उनमें कोरोना वायरस नहीं पाया गया है। उन्होंने कहा कि जिले व राज्य स्तर पर स्थिति नजर रखने के लिए राज्य तथा जिला नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं तथा हेल्पलाइन 104 को भी सक्रिय किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य तथा जिला रैपिड प्रतिक्रिया टीमों को तैनात किया गया है ताकि किसी भी स्थिति से निपटा जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदिरा गांधी मेडिकल काॅलेज शिमला तथा डा. राजेन्द्र प्रसाद मेडिकल काॅलेज टांडा में आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं जबकि सभी जिलास्तरीय अस्पतालों में अलग वार्ड की पहचान की गई है। इसके अलावा, शिमला, मण्डी व धर्मशाला में भी 50-50 बिस्तरों वाले क्वारनटाइन सुविधा की पहचान की गई है। जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों में व्यक्तिगत संरक्षित उपकरण और एन-95 मास्क उपलब्ध करवाये गए हैं। उन्होंने कहा कि लोगों में इस वायरस के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए अनेक कारगर उपाय किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में बसों को सेनेटाइज किया जा रहा है तथा यात्रियों को भी इसके बारे में जागरूक किया जा रहा है। विदेश से आने वाले सभी लोगों को क्वारनटाइन पीरियड में रखा जा रहा है और स्वास्थ्य विभाग प्रतिदिन उनके स्वास्थ्य की अपडेट ले रहा है। जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के सभी स्कूलों, कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों को एहतियात के तौर पर 31 मार्च, 2020 तक बंद किया गया है। मेलों, त्यौहारों और खेल-कूद प्रतियोगताओं के आयोजन पर भी रोक लगा दी गई है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *