एसजेवीएन ने मनाया “महिला दिवस”, एसजेवीएन निदेशक (कार्मिक) गीता कपूर ने कहा; हर महिला को सशक्त बनाने के करने होंगे प्रयास

एसजेवीएन ने मनाया “महिला दिवस”, एसजेवीएन निदेशक (कार्मिक) गीता कपूर ने कहा; हर महिला को सशक्त बनाने के करने होंगे प्रयास

  • Each for Equal इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का थीम
  • कार्यक्रम में प्रीति मोंगा और डिक्की डोलमा ने की मुख्यातिथि के रूप में शिरकत

शिमला : एसजेवीएन की निदेशक (कार्मिक) गीता कपूर के नेतृत्व में एसजेवीएन द्वारा महिला दिवस पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर निगम में कार्यरत महिला कर्मचारियों तथा सतलुज एसजेवीएन महिला क्लब के लिए एक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। महिला कर्मचारियों में जोश का संचारण करने के लिए प्रीति मोंगा और डिक्की डोलमा को आमंत्रित किया गया था।

प्रिति मोंगा जो कि एक लेखक, मोटीवेशनल स्पीकर, कारपोरेट ट्रेनर तथा विशेष शाररिक रूप विशेष क्षमताओं वाले व्यक्तियों के अधिकारों के लिए प्रयासरत हैं तथा सिल्वर लाइनिंग के नाम से एक गैर सरकारी संस्था भी चलाती हैं। डिक्की डोलमा को एवरेस्ट पर फतेह पाने वाली सबसे कम उम्र की महिला होने का गौरव प्राप्त है।

एसजेवीएन ने मनाया “महिला दिवस”, एसजेवीएन निदेशक (कार्मिक) गीता कपूर ने कहा; हर महिला को सशक्त बनाने के करने होंगे प्रयास

एसजेवीएन ने मनाया “महिला दिवस”, एसजेवीएन निदेशक (कार्मिक) गीता कपूर ने कहा; हर महिला को सशक्त बनाने के करने होंगे प्रयास

इस अवसर पर गीता कपूर ने कहा कि हर महिला को अन्य महिलाओं को माता के रूप में, पत्नी के रूप में, बहू के रूप में, बेटी के रूप में, बहन के रूप में, मित्र के रूप में तथा सहकर्मी के रूप में सशक्त बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है। हर महिला को अन्य महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए प्रयास करने होंगे। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की थीम # Each for Equal है।  जिसका फोकस ऐसे समाज का निर्माण करना है जहां लैंगिक समानता स्वाभाविक रूप से आती है। जहां महिलाओं को जीवन भर के साथी के रूप में देखा जाता है।

उन्होंने आगे कहा कि जब हम महिला सशक्तिकरण के बारे में बात करते हैं तो यह केवल वित्तिय स्वतंत्रता तक ही सीमित नहीं है अपितु मनोवैज्ञानिक सशक्तिकरण और चुनौतीपूर्ण जीवन की सभी कठिनाईओं का सामना करने का आत्मविश्वास है।

इससे पूर्व गीता कपूर द्वारा विकास खंड निचार, जिला किन्नौर के अधीन परियोजना प्रभावित पंचायतों के अंतर्गत आने वाले महिला मण्डलों द्वारा महिला दिवस पर आयोजित कार्यकम में भाग लिया। इस आयोजन में 31 महिला मण्डलों व परियोजना प्रभावित पंचायतों से आई महिलाओं ने भाग लिया। इस कार्यक्रम में महिलाओं द्वारा स्थानीय लोकनृत्य, स्वच्छता एवं नशा उन्मूलन पर नाटकों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया।

कपूर ने अपने वक्तव्य में यह बल दिया कि नारी सशक्तिकरण के लिए सरकार द्वारा भी महिला उत्थान के लिए चलाई जा रही योजनाओं का भी भरपूर लाभ उठाना चाहिए ताकि समाज में महिलाओं की स्थिति सुदृढ और संपन्न हो सके।  इस अवसर पर निदेशक कार्मिक ने कहा कि आज लालपैथ लैब द्वारा हिमोग्लोबिन की जांच करवाने के शिविर का आयोजन भी किया गया है और उन्होंने आग्रह किया कि सभी आने हिमोग्लोबिन की जांच अवश्य करवाएं।  साथ ही आज उन्होंने पर्यावरण व स्व्च्छता पर प्रकाश डालते हुए पौधारोपण भी किया और उपस्थित लोगों से भी करवाया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *