शिमला में 4 अगस्त को मैराथन

धावकों ने लिया अर्द्ध-मैराथन में भाग

शिमला: प्रदेश में नशीले पद्वार्थो पर शिंकजा कसने के लिए हिमाचल प्रदेश पुलिस विभाग द्वारा मादक पद्धार्थ अधिनियम के तहत कठोर कार्यवाही की जा रही है। यह जानकारी आज पुलिस विभाग द्वारा ऐतिहासिक रिज मैदान पर आयोजित अर्द्ध- मैराथन दौड़ के समापन अवसर पर पुलिस महानिदेशक, संजय कुमार ने अपने संबोधन में कही।

संजय कुमार ने कहा कि लगभग 8 करोड़ रूपये से अधिक की राशि के नशीले पद्धार्थ इस अधिनियम के तहत कार्यवाही करते हुए प्रदेश में पकड़े गए। उन्होंने कहा कि 1919 बीघा भूमि से भांग की पैदावार नष्ट की गई जबकि 33 बीघा भूमि से अफीम के पौधों की खेती नष्ट की गई। मादक पद्वार्थ का कारोबार करने के अपराध में 740 भारतीय तथा 15 विदेशी नागरिकों को अधिनियम के तहत पकड़ा गया।

उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग द्वारा सभी जिलों में 23 जून, 2015 से नशा निवारण से संबधित विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। एक सप्ताह तक चलने वाले इस अभियान में शिक्षण संस्थानों में नशे के विरूद्ध जागरूकता काय्रक्रमों का आयोजन, जनसमूह में मिटिंग सेमिनार, चित्रकला, निबन्ध लेखन व प्रदर्शनियों का आयोजन किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि इस दौंड़ में 3000 धावकों ने भाग लिया। 21.5 किमी. पुरूष वर्ग में जगमाल को 25000 हजार रूपये का प्रथम पुरस्कार, हरिष प्रथम उप विजेता व राजेश कुमार को द्वितीय उप विजेता घोषित किया गया। इसी श्रेणी के महिला वर्ग में, अमनदीप कौर विजेता घोषित की गई जबकि प्रथम उपविजेता सीमा रही।

10 कि.मी. पुरूष वर्ग की दौड़ में सुभाष चंद विजेता जबकि हरिष कोरंगा प्रथम उप विजेता व संजय कुमार द्वितीय उपविजेता रहा।इसी श्रेणी के महिला वर्ग में किरण जीत कौर, पारूल चौधरी प्रथम उपविजेता व प्रिती चौधरी द्वितीय उप विजेता रही।

3 कि.मी. की ड्रीम रन में दौड़ के 31 से 45 वर्ष के आयु वर्ग के पुरूष वर्ग में यशवंत सिंह प्रथम व एम.साई बाबा द्वितीय रहे। इसी श्रेणी की महिला वर्ग में दीपा सेठ प्रथम रही। 3 कि.मी. 46 से 60 वर्ष आयु वर्ग की पुरूष श्रेणी में प्रेम राज प्रथम, नरेश वक्शी द्वितीय महिला वर्ग में नंद रानी प्रथम, कुलविन्दर कौर द्वितीय रही। 61 से 74 वर्ष आयु वर्ग की इसी श्रेणी की दौड़ के पुरूष वर्ग के श्री परमा राम प्रथम, रत्तन द्वितीय महिला वर्ग की सुविधा प्रथम व राशि गुप्ता द्वितीय रही। पुलिस महानिदेशक ने विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए। इस अवसर पर आश्री, रामनरायण की अगुवाई में सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया जिसमे द्वितीय आई.आर.वी.एन. महिला कांगडा ने झमाकडा, तृतीय आई.आर.वी.एन. मण्डी ने राजस्थानी, छठी आर.आई.वी.एन. कोलर नाहन ने सिरमौरी नाटी, तथा प्रथम आई.आर.वी.एन. बागनट ऊना ने भागडा प्रस्तुत किया। उन्होंने गुप्तचर विभाग नारकोटिक्स सैंल द्वारा प्रकाशित पुस्तक का विभोचन भी किया। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, संजीव रजंन ओमा ने मुख्या अतिथि व एयरटैल मोबाईल कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मन्नू सूद का अभिनंदन किया। पुलिस महा निरिक्षक एस. जहूर हैदर जैदी ने आभार वक्त किया।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *