“हिमकेयर योजना” के तहत करीब 200 स्वास्थ्य संस्थान पंजीकृत, 56 निजी अस्पताल और पीजीआई चण्डीगढ़ शामिल

“हिमकेयर योजना” के तहत करीब 200 स्वास्थ्य संस्थान पंजीकृत, 56 निजी अस्पताल और पीजीआई चण्डीगढ़ शामिल

 

  • “हिमकेयर योजना” स्वास्थ्य देखभाल सुविधा के लिए बनी वरदान
  • योजना के तहत प्रदेश में 5 लाख 50 हजार से अधिक परिवारों का पंजीकरण, अभी तक हुआ 533 रोगियों का निःशुल्क उपचार

ठाकुर रीना राणा/शिमला : हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा लोगों को निःशुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान करने के लिए आरम्भ की गई ‘हिमकेयर योजना’ (हिमाचल हैल्थकेयर योजना) लोगों के वरदान साबित हो रही है। इस योजना के तहत प्रदेश में 5 लाख 50 हजार से अधिक परिवारों का पंजीकरण किया जा चुका हैं तथा उन्हें निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।

हिमकेयर योजना के तहत फैमली फलोटर आधार पर एक वर्ष में प्रति परिवार पांच लाख रुपये की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान की जा रही है। इस योजना के माध्यम से अभी तक 60.66 करोड़ रुपये व्यय कर 65 हजार 533 रोगियों का निःशुल्क उपचार किया जा चुका है।

राज्य सरकार द्वारा आरम्भ की गई इस महत्वाकांक्षी योजना का मुख्य ध्येय स्वस्थ भारत का निर्माण करना है और यह तभी हासिल किया जा सकता है जब देश के नागरिक स्वस्थ होंगे। प्रदेश के सभी पात्र लोगों को हिमकेयर के तहत लाभान्वित करने के लिए इस योजना की कार्य प्रणाली डिजिटाईज़ की गई है। रोगियों को विभिन्न फार्म भरने, शुल्क अदा करने तथा अन्य कार्यों के लिए अब लम्बी कतार में नहीं लगना पड़ता है। इसके लिए सरकार द्वारा ई-कार्ड, ई-फार्म, आनलाइन ट्रीटमेंट ऐंट्रीज और कैशलेस ट्रांजैक्शन मनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था की गई है।

इस योजना का लाभ प्रदान करने के लिए लगभग 200 स्वास्थ्य संस्थानों को पंजीकृत किया गया है। इसमें 56 निजी अस्पताल और पीजीआई चण्डीगढ़ को सम्मिलित किया गया है।

सरकार द्वारा 1 जनवरी, 2020 से नए ई-कार्ड जारी करने का कार्य आरम्भ कर दिया गया है। इस योजना के तहत केंसर, पक्षाघात, मस्कूलर डिस्ट्राफी, हदृय से सम्बन्धित बिमारियां, एलजाईमर तथा अन्य गम्भीर बिमारियों का ईलाज भी शामिल किया गया है।

इस ई-हैल्थकेयर पहल के माध्यम से लोगों तक गुणात्मक स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच सुनिश्चित करना और नागरिकों की स्वास्थ्य पात्रताओं की कुशल निगरानी करने का लक्ष्य तय किया गया है।

सरकार की इस योजना के माध्यम से व्यय कम कर स्वास्थ्य देखभाल दक्षता बढ़ाने का प्रयास किया गया है। दक्षता बढ़ाकर न केवल व्यय कम होता है, बल्कि स्वास्थ्य गुणवत्ता में भी सुधार सुनिश्ति होता है। लोगों के स्वास्थ्य की देखभाल और निःशुल्क स्वास्थ्य चिकित्सा सुविधा प्रदान के लिए आरम्भ की गई हिमकेयर योजना वास्तव में प्रदेश सरकार, रोगियों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मध्य विश्वास का बन्धन है। 

राज्य सरकार द्वारा 1 जनवरी, 2020 से इस योजना के तहत नए परिवारों का पंजीकरण आरम्भ कर दिया गया है ताकि अधिक से अधिक लोग निःशुल्क उपचार सुविधा से लाभान्वित हो सके। अभी तक 25 हजार नए परिवार पंजीकृत किए जा चुके हैं। पंजीकरण के लिए अन्तिम तिथि 31 मार्च, 2020 निर्धारित की गई है। लाभार्थी पंजीकरण के लिए वैबसाईट  www.hpsbys.in या लोक मित्र केन्द्र/सामान्य सेवा द्वारा आनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते है। उन्हें योजना के तहत आवश्यक दस्तावेज भी अपलोड करने होंगे।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *