नगर निगम शिमला में एफसीपीसी की बैठक, इन प्रस्तावों को मिली मंजूरी...

नगर निगम शिमला में एफसीपीसी की बैठक, इन प्रस्तावों को मिली मंजूरी…

शिमला: नगर निगम शिमला में मेयर सत्या कौंडल की अध्यक्षता में हुई मंगलवार को एफसीपीसी की बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। जिसमें 15.37 लाख रुपये की नई लाइटें लगाने और कई लाइटें शिफ्ट करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई। वहीं इस बैठक में खाली पड़े स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों के 12 पदों को भरने का फैसला लिया गया।  यह सभी पद बैकलॉग आधार पर भरे जाएंगे। इनमें लिपिक का एक पद, दो पद मजदूर और नौ पद सफाई कर्मचारी के हैं।

शहर में पेड़ों की गिनती करने के एवज में वन विभाग को 9.24 लाख देने के प्रस्ताव पर भी फैसला लिया गया। तय किया कि जब तक वन विभाग भूमि के मालिक संबंधी पूरा रिकॉर्ड निगम को नहीं दे देता, तब तक इन पैसों का भुगतान नहीं किया जाएगा। निगम प्रशासन के अनुसार अभी विभाग ने अधूरा रिकॉर्ड दिया है।

बैठक में पांच पार्किंगों के तकनीकी मंजूरी लेने सबंधी प्रस्ताव के लिए हिमुडा को 17.34 लाख रुपये फीस देने को भी मंजूरी दी है। शहर में बर्फबारी हटाने पर करीब दस लाख रुपये खर्च हो गए। पहले करीब साढ़े चार लाख रुपये के टेंडर किए गए थे लेकिन इस बार बर्फबारी ज्यादा होने के कारण इसकी लागत बढ़ गई। कमेटी ने इसे मंजूरी दे दी।

मेयर सत्या कौंडल की अध्यक्षता में हुई जीएफसी की बैठक में वार्ड कार्यालयों की मरम्मत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। पार्षद इंद्रजीत सिंह ने कहा कि कई वार्डों में दफ्तर ही नहीं हैं। संयुक्त आयुक्त ने प्रस्ताव देने को कहा। जीएफसी ने सिलाई केंद्र ढली की शिक्षिका को तीन माह की एक्सटेंशन देने का भी फैसला लिया गया। बैठक में पार्षद कमलेश मेहता भी मौजूद रहें।

डिप्टी मेयर शैलेंद्र चौहान की अध्यक्षता में हुई सोशल जस्टिस कमेटी की बैठक में लेबर हास्टल बनाने के प्रस्ताव पर चर्चा की गई। इसके लिए जल्द जगह चिन्हित की जाएगी। पार्षद आरती चौहान ने इंजनघर के वूमन हास्टल में कैंटीन खोलने और शाम को एंट्री टाइम आधा घंटा बढ़ाने की मांग रखी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *