राकेश जम्वाल का विक्रमादित्य को पलटवार, कहा वीरभद्र सिंह के समय केंद्र और प्रदेश में थी कांग्रेस की सरकार तब क्यों नहीं हुई हिमाचल को इस प्रकार की मदद

राकेश जम्वाल का विक्रमादित्य को पलटवार, कहा वीरभद्र सिंह के समय केंद्र और प्रदेश में थी कांग्रेस की सरकार तब क्यों नहीं हुई हिमाचल को इस प्रकार की मदद

शिमला : भाजपा विधायक राकेश जमवाल ने कांग्रेस के विधायक विक्रमादित्य सिंह द्वारा की गई टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा की 15वें वित्त आयोग की ओर से हिमाचल को राजस्व घाटा अनुदान 45 प्रतिशत बढ़ाने के निर्णय का जिस प्रकार विक्रमादित्य सिंह ने स्वागत किया है उन्हें केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद भी करना चाहिए और मानना चाहिए कि यह निर्णय हिमाचल प्रदेश के लिए एक बड़ा तोहफा है।

विक्रमादित्य के दिए गए सुझावों पर विधायक राकेश जमवाल ने कहा की वर्तमान में हिमाचल में जयराम ठाकुर के नेतृत्व में चलने वाली सरकार हिमाचल की जनता के लिए हर एक पैसे को सूझबूझ के साथ खर्च कर रही है और आम जनता के लिए सकारात्मक कार्य कर रही है उन्होंने कहा विक्रमादित्य बताएं जब उनके पिताजी वीरभद्र सिंह मुख्यमंत्री थे तब इस प्रकार के सुझाव उन्होंने दिए होते तो शायद आज हिमाचल प्रदेश की तस्वीर कुछ और होती उन्होंने कहा जिस प्रकार पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह द्वारा फजूल खर्ची की गई उसी का परिणाम है कि हिमाचल प्रदेश का राजस्व घाटा इतना ज्यादा बढ़ गया है और हिमाचल प्रदेश को बार-बार ऋण लेने की आवश्यकता पड़ रही है।

उन्होंने कहा विक्रमादित्य बताएं की पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के समय में जब केंद्र और प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी तब इस प्रकार की मदद केंद्र सरकार द्वारा हिमाचल प्रदेश की क्यों नहीं हुई। कांग्रेस के कार्यकाल में किसी भी प्रकार का विकास हिमाचल प्रदेश में नहीं हो पाया और विकास कार्यों में कांग्रेस पार्टी का कोई योगदान नहीं है उन्होंने कहा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पूरे प्रदेश भर में एक समान विकास कार्य कर रहे हैं और उनके नेतृत्व में ऊपर और नीचे की राजनीति समाप्त हो गई है हर वर्ग के लिए कोई ना कोई योजना बनाई गई है और कार्य किए जा रहे हैं उन्होंने कहा हिमाचल प्रदेश के गठन के बाद यह पहली बार है कि इस प्रकार का विकास हिमाचल प्रदेश में हो रहा है, सच में प्रदेश में डबल इंजन की सरकार चल रही है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *