वार्षिक परीक्षाओं में कम परिणाम देने वाले शिक्षकों की नहीं होगी वेतन वृद्धि

वार्षिक परीक्षाओं में कम परिणाम देने वाले शिक्षकों की नहीं होगी वेतन वृद्धि

शिमला : शिक्षा निदेशालय ने कम परिणाम में सुधार नहीं लाने वाले शिक्षकों पर शिकंजा कसने का फैसला लिया है। मार्च में होने वाली दसवीं तथा बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं के साथ-साथ नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा में विषयवार परीक्षा परिणाम का सख्ती से आंकलन करने का फैसला लिया है। जिन शिक्षकों का परीक्षा परिणाम बीते कुछ वर्षों से कम चल रहा होगा, उनकी इस साल वेतन वृद्धि नहीं होगी।

वार्षिक परीक्षाओं में कम परिणाम देने वाले शिक्षकों को इस बार वेतन वृद्धि नहीं मिलेगी। उच्च शिक्षा निदेशालय ने सरकारी स्कूलों का परिणाम सुधारने के लिए फैसला लिया है। सभी जिला उपनिदेशकों को वेतन वृद्धि रोकने का फरमान जारी किया गया है। उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने बताया कि अगर परिणाम में कोई शिक्षक सुधार नहीं कर पा रहा है तो सरकार के निर्देशानुसार उसकी एक वेतन वृद्धि रोकी जाएगी। साल 2017 में भी कई की वेतन वृद्धि रुकी थी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *