स्वास्थ्य मंत्री ने किया थीम स्टेट हिमाचल की सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ, हिमाचलमय हुआ पूरा पंडाल

स्वास्थ्य मंत्री ने किया थीम स्टेट हिमाचल की सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ, हिमाचलमय हुआ पूरा पंडाल

  • 140 कलाकारों ने दी सामूहिक प्रस्तुति, पारंपरिक वेश-भूषा व वाद्य यंत्रों से सुसज्जित नृत्य नाटिका में समस्त प्रदेश की झलक
  • नृत्य नाटिका के माध्यम से प्रदेश की सांस्कृतिक झलक को एक सूत्र में पिरोया

शिमला : मंगलवार को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने सूरजकुंड मेले में थीम स्टेट हिमाचल की सांस्कृतिक संध्या का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर विधायक मुलख राज प्रेमी व अरुण मेहरा भी उपस्थित थे।

हिमाचल के विभिन्न जिलों की विविधता भरी संस्कृति को सूरजकुंड मेले के मंच पर मनमोहक नृत्य नाटिका के जरिए प्रस्तुत किया गया। पारंपरिक वेश-भूषा व वाद्य यंत्रों से सुसज्जित नृत्य नाटिका में समस्त प्रदेश की झलक को दिखलाया गया। इस दौरान पूरे पंडाल का वातावरण हिमाचलमय हो गया। नृत्य नाटिका को देखने के लिए दर्शकों और पर्यटकों का भारी हुजूम उमड़ा।

पूनम शर्मा द्वारा निर्मित व निर्देशित इस नृत्य नाटिका में हिमाचल की गौरवमयी संस्कृति, लोक गायन और लोकनृत्य को दर्शाने के लिए विभिन्न जिलों के 140 कलाकारों ने सामूहिक प्रस्तुति दी। हिमाचल प्रदेश के धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से तैयार इस नृत्य नाटिका में प्राकृतिक सौंदर्य व जीवंत संस्कृति को बहुत खूबसूरती से प्रदर्शित किया गया।

चंबा जिला के शिव पूजन, कांगड़ा के झमाकड़ा, लाहौल-स्पिति की बौद्ध संस्कृति, शिमला की नाटी, सिरमौर के ठोडा व प्रात नृत्य, मंडी जिला की लुड्डी, किन्नौर की कायंग नाटी तथा कुल्लू जिला की देव संस्कृति को दर्शाती इस नृत्य नाटिका के माध्यम से प्रदेश की सांस्कृतिक झलक को एक सूत्र में पिरोया गया जिसे देखकर दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। 1 फरवरी को शुरू हुआ सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला 16 फरवरी 2020 तक चलेगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *