अधिकारियों को चुस्त रहने की आवश्यकता, ताकि काम में न हो किसी भी प्रकार का विलंब : डीसी

अधिकारियों को चुस्त रहने की आवश्यकता, ताकि काम में न हो किसी भी प्रकार का विलंब : डीसी

  • बैठक में राजस्व विभाग से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश

शिमला : उपायुक्त शिमला अमित कश्यप की अध्यक्षता में आज यहां जिला के राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। उपायुक्त ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को सरकार के सभी विकासात्मक कार्यक्रमों को समयबद्ध लागू करने के निर्देश दिए। बैठक में राजस्व विभाग से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की गई तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

    उपायुक्त ने अधिकारियों को आम आदमी की जनमंच, ई-समाधान एवं अन्य माध्यमों से मिल रही विभिन्न समस्याओं का समयबद्ध निपटारा करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि पूरे जिले में बर्फबारी से निपटने के लिए सभी अधिकारियों ने सराहनीय कार्य किया है, तथा सड़कों पर बच्ची बर्फ को जल्द से जल्द हटाने के निर्देश दिए ताकि लोगों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।

उन्होंने बताया कि राजस्व से संबंधित सभी मामलों को समयनुसार सुलझाया जाए तथा सामान्य एवं जनमंच के दौरान प्राप्त लोगों की समस्याओं को सुलझाने के लिए प्राथमिकता के साथ काम किया जाए। उपायुक्त ने प्रधानमंत्री किसान योजना के अंतर्गत लंबित समस्याओं को जल्द से जल्द सुलझाने के निर्देश दिए।

  जिले में विभिन्न जगहों पर गौ सदन के लिए प्रस्तावित भूमि का चयन कर उसका काम शुरू करें ताकि आवारा पशुओं को सुरक्षित स्थान मिल सके।

अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी कानून एवं व्यवस्था प्रभा राजीव द्वारा वन अधिकार कानून 2006 में अधिकारियों की भूमिका एवं जिम्मेदारियों के बारे में जानकारी प्रदान की गई तथा व्यवहारिक तौर पर आ रही समस्याओं के बारे में विचार विमर्श किया गया।

   उपायुक्त ने अधिकारियों को नशे के बढ़ते चलन को खत्म करने के लिए निर्देश देते हुए कहा कि जिला में सभी अधिकारी बच्चों, अभिभावकों एवं अध्यापकों से सीधा संवाद स्थापित करें, ताकि स्वच्छ एवं स्वस्थ समाज का निर्माण हो सके।

उपायुक्त ने जिले में अवैध खनन को खत्म करने के लिए उपमंडल स्तर पर सभी विभागों के साथ एक बैठक का आयोजन करने के निर्देश दिए ताकि खनन से होने वाले दुष्प्रभाव को रोका जा सके। उन्होंने उपमंडल स्तर के सभी अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ाने के लिए कैंपिंग साइट चिन्हित कर विकसित करें ताकि वहां के नौजवानों को रोजगार के अवसर पैदा हो सके।

उन्होंने बताया कि जनता का आप सब लोगों से सीधा संवाद है जिस से सभी अधिकारियों को चुस्त रहने की आवश्यकता है ताकि काम में किसी भी प्रकार का विलंब उत्पन्न न हो और लोगों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।

इस अवसर पर उपायुक्त ने उपस्थित सभी अधिकारियों से सुझाव आमंत्रित किए तथा प्राप्त सुझाव पर गहन विचार विमर्श किया गया।

बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त अपूर्व देवगन, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (प्रोटोकॉल) संदीप नेगी, जिला राजस्व अधिकारी मनजीत कुमार, जिला के सभी उपमंडलाधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *