मंडी शहर के ऐतिहासिक घंटाघर की सालों से बंद पड़ी घड़ी को किया ठीक

मंडी शहर के ऐतिहासिक घंटाघर की सालों से बंद पड़ी घड़ी को किया ठीक

मण्डी : प्रदेश के जिला मण्डी   शहर के ऐतिहासिक घंटाघर की घड़ियों को कार मैकेनिक ने ठीक कर दिया है।  जिस घंटाघर की घड़ियों को ठीक करवाने के लिए कोलकात्ता से लाखों  रुपए खर्च करके कारीगर बुलाने पड़ते थे, उस घंटाघर की घड़ियों को एक कार मैकेनिक ने ठीक कर दिया है। मण्डी शहर के साथ लगते ब्राधीवीर में कार मैकेनिक का काम करने वाले सन्नी ने यह कार्य करके दिखाया है। सन्नी मूलतः मण्डी शहर के मंगवाई का रहने वाला है और पिछले करीब 32 साल से कार मैकनिक है। इससे पहले सन्नी घड़ियों की मरम्मत का कार्य भी करता था। सन्नी की इच्छा भी थी कि वह शहर के ऐतिहासिक घंटाघर को ठीक करने में अपना योगदान दे सके।

सन्नी की यह तमन्ना नगर परिषद तक पहुंची और नगर परिषद ने भी सन्नी को घड़ियों को ठीक करने का मौका दिया। सन्नी ने ऐतिहासिक घंटाघर के सारे मैकेनिज्म को समझा और इसकी मर्ज को ढूंढ निकाला। मर्ज का समाधान करते ही घड़ी की सुईयां दौड़ने लग गई है और सही समय दिखाना शुरू कर दिया। सन्नी ने बताया कि उसे घंटाघर को ठीक करके आनंद महसूस हो रहा है। घंटाघर में जो भी छोटी मोटी कमी रही होगी उसे भी जल्द ही दूर कर दिया जाएगा। उन्होंने भविष्य में भी घंटाघर के लिए इसी तरह से अपनी सेवाएं देने की बात कही है।

वहीं नगर परिषद की अध्यक्ष सुमन ठाकुर ने घंटाघर को ठीक करने के लिए सन्नी का आभार जताया। उन्होंने बताया कि घंटाघर सही तरह चले, इसके लिए कोलकात्ता से कारीगर बुलाकर पूरी मरम्मत करवाई जाएगी। अगर जरूरत हुई तो कलपुर्जे भी बदले जाएंगें ताकि घंटाघर सही तरह से काम करे और जनता को सही समय बताए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *