हिमाचल भाजपा के नए अध्यक्ष पद पर डॉ. बिंदल की ताजपोशी

हिमाचल भाजपा के नए अध्यक्ष पद पर डॉ. बिंदल की ताजपोशी

  • भाजपा राष्ट्रीय परिषद के लिये चार नामों की घोषणा
  • समारोह में वरिष्ठ नेता शांता कुमार और पूर्व सीएम प्रो. धूमल निजी कारणों से नहीं हो सके शामिल
  • प्रो. धूमल और शांता कुमार का शुभकामना संदेश समारोह में पढ़कर सुनाया गया

शिमला: हिमाचल प्रदेश भारतीय जतना पार्टी के नए अध्यक्ष पद पर डॉ. राजीव बिंदल की ताजपोशी हो गई है। भाजपा राष्ट्रीय सचिव एवं पर्यवेक्षक सुनील देवधर ने राजीव बिंदल की हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बनाये जाने की घोषणा की। ताजपोशी में केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, केन्द्रीय राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, भाजपा राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, प्रदेश भाजपा प्रभारी मंगल पांडेय सहित तमाम मंत्री, विधायक और बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे। ताजपोशी में पुर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार और प्रेम कुमार धूमल निजी कारणों से इस समारोह में शामिल नहीं हो सके। प्रो. प्रेम कुमार धूमल और शांता कुमार का शुभकामना संदेश समारोह में कार्यकर्ताओं को पढ़ कर सुनाया गया। समारोह में प्रदेशभर से सैंकड़ों कार्यकर्ता जोश और उत्साह के साथ ढोल नगाड़ों और पारंपरिक परिधान के साथ पहुंचे।

इसके अलावा भाजपा राष्ट्रीय परिषद के लिये चार नामों की घोषणा भी की गई जिसमें कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से रीता धीमान, मंडी संसदीय क्षेत्र से राकेश जम्वाल, हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से राजेंद्र गर्ग और शिमला संसदीय क्षेत्र से सुखराम चौधरी के नाम राष्ट्रीय परिषद के लिये मनोनीत किये गए।

  • उम्मीद ही नहीं बल्कि पूर्ण विश्वास डॉ. बिंदल के नेतृत्व में संगठन छुएगा बुलंदियां: सत्ती

समारोह को सम्बोधित करते हुए भाजपा के निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती’ ने कहा कि करीब 9 वर्षों तक एक-एक कार्यकर्ता से मिलने, उनको समझने और सीखने का मौका मिला। इस दौरान उन्हें सभी का भरपूर सहयोग और आशीर्वाद मिला। संगठन के लिए सभी की शक्ति से काम करने का प्रयास किया, आज हिमाचल प्रदेश अध्यक्ष पद से रिटायरमेंट पर संतोष है कि संगठन उन्नति के शिखर ओर अग्रसर हो रहा है । संगठन में आज एक बेहतरीन कार्यकर्ता और कुशाग्र नेता डॉ. राजीव बिंदल के हाथों संगठन की कमान सौंपने का अवसर मिला है। उम्मीद ही नहीं बल्कि पूर्ण विश्वास है इनके नेतृत्व में संगठन बुलंदियां छुएगा। सरकार और संगठन ने पहले भी मिलकर काम किया है और भविष्य में भी ये परिपाटी जारी रहेगी।

  • डॉ. बिंदल चुनावी राजनीति में जीत दर्ज करने वाले नेता : सुनील देवधर

पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एवं पर्यवेक्षक सुनील देवधर ने कहा कि भाजपा के साढ़े छः करोड़ वेरिफाइड कार्यकर्ता देश भर में है। उन्होनें कहा कि हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अहंकार और घमंड से कोसों दूर है। देवधर ने दावा किया कि भाजपा की सरकार को रिपीट करने की क्षमता जयराम ठाकुर में है और अब डा. बिंदल के साथ प्रदेश में दो बड़े कुशल और जुझारू नेता पहली बार प्रदेश में सरकार को दोबारा सत्ता में लाने के लिए काम करेंगे।

हिमाचल प्रभारी एवं बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने कहा कि डॉ. बिन्दल 1978 में मात्र 13 साल की उम्र के स्वयंसेवक बन गए थे। उन्होनें

डॉ. बिंदल बोले: जो जिम्मेदारी मुझे सौंपी गई है उसे पूरी निष्ठा, विश्वास और समर्पण के साथ निभाऊंगा

डॉ. बिंदल बोले: जो जिम्मेदारी मुझे सौंपी गई है उसे पूरी निष्ठा, विश्वास और समर्पण के साथ निभाऊंगा

कहा कि बिंदल जी ने बचपन से ही अपने आप को देश के लिए समर्पित कर दिया था। उन्होनें कहा कि डॉ. बिंदल चुनावी राजनीति में जीत दर्ज करने वाले नेता हैं। इस अवसर पर उन्होनें डॉ. बिंदल को बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी।

  • डॉ. बिंदल के नेतृत्व में भाजपा सरकार को पहली बार रिपीट करने में अवश्य सफल होगी : अनुराग

केन्द्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि सतपाल सिंह सत्ती के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में सबसे लंबे कार्यकाल मे भाजपा के लिए सराहनीय योगदान रहा। उन्होनें आशा व्यक्त करते हुए कहा कि डॉ. बिंदल के नेतृत्व में भाजपा प्रदेश में सरकार को पहली बार रिपीट करने में अवश्य सफल होगी। विधान सभा अध्यक्ष के नाते कानूनी और वैधानिक बाधाएं रहती थी, लेकिन अब संगठन में खुलकर काम करने का पूर्ण अवसर मिलेगा तथा संगठन को भी इसका भरपुर फायदा मिलेगा।

  • डॉ. बिंदल के लम्बे राजनैतिक अनुभव का फायदा पार्टी को अवश्यरूप से मिलेगा : रमेश पोखरियाल

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री एवं पर्यवेक्षक रमेश पोखरियाल ’निशंक’ ने कहा कि डॉ. बिंदल संगठनात्मक दृष्टि से बेहद संवेदनशील व्यक्ति है। सभी को साथ लेकर नेतृत्व की क्षमता और जुझारूपन उनमें मौजूद है। उन्होनें डॉ. बिन्दल को प्रदेश अध्यक्ष बनने पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी और कहा कि इनके पास काफी लम्बा संगठनात्मक अनुभव है और पहले भी कई महत्वपूर्ण पदों का निर्वहन बखूबी कर चुके हैं। इनके लम्बे राजनैतिक अनुभव का फायदा पार्टी को अवश्यरूप से मिलेगा और भाजपा हिमाचल प्रदेश का संगठन और अधिक मजबूती से कार्य करेगा।

  • डॉ. बिंदल बोले: जो जिम्मेदारी मुझे सौंपी गई है उसे पूरी निष्ठा, विश्वास और समर्पण के साथ निभाऊंगा

समारोह को सम्बोधित करते हुए डॉ. बिन्दल ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेवारी सौंपने के लिए पार्टी नेतृत्व का आभार जताया। उन्होनें सतपाल सिंह सत्ती संगठन की रीढ़ बताते हुए कहा कि उन्होनें त्रिदेव और बूथ लेवल मैनेजमेंट के साथ पन्ना प्रमुख जैसा कठिन काम करके प्रदेश में पहले विधानसभा चुनाव जीत कर सरकार बनाने का काम किया। उसके बाद लोकसभा चुनाव में रिकार्ड जीत दर्ज करवाई। प्रदेश में दो विधानसभा उप चुनाव जीत कर रिकार्ड बनाने में सत्ती की टीम का कार्य सराहनीय रहा।

बिंदल ने कहा कि हिमाचल के लिए यह गौरव की बात है कि देश और दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा बनने जा रहे हैं। ये हिमाचल के लिए सबसे बड़ी उपलब्धि और सम्मान का विषय है। बिंदल ने सभी को विश्वास दिलाया की जो जिम्मेदारी मुझे सौंपी गई है उस पर पूरी निष्ठा, विश्वास और समर्पण के काम करने का वादा किया। उन्होनें कहा कि पार्टी प्रदेश में समर्पण, समरसता, समन्वय और सेवा के साथ काम करेगी।

  • अब राजीव बिंदल को मिल गयी आज़ादी और संगठन को मजबूत करने का मिल गया काम: जयराम

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राजीव बिंदल को अध्यक्ष बनने पर बधाई देते हुए कहा है कि संगठन का काम आ डॉक्टर के पास है जो नब्ज देख कर मर्ज का पता लगा लेते है और ईलाज ऐसा होता है जिसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है। राजीव बिंदल की दो वर्षों में बोलती बंद थी। न चाहते हुए भी पद की गरिमा का सम्मान करते हुए विधानसभा अध्यक्ष के तौर पर दो साल स्वर्णिम काम किया। लेकिन अब राजीव बिंदल को आज़ादी मिल गयी है और संगठन को मजबूत करने का काम मिल गया है। संगठन से सरकार बनती है। सरकार को चलाने में कार्यकर्ता और संगठन का सहयोग जरूरी होता है। सरकार ने दो साल में कई अभूतपूर्व काम किये हैं। विपक्ष के पास सरकार को घेरने का कोई मुद्दा नहीं है। लोकसभा चुनावों में ऐतिहासिक जीत हासिल की जिसका श्रेय सभी कार्यकर्ताओं को जाता है। अगले चुनाव के लिए कार्य करने का काम शुरू हो गया ही जिसकी जिम्मेदारी राजीव बिंदल को पार्टी ने सौंपी है। सरकार और संगठन दोनों को मिलकर 2022 के लिए काम करना है। 50 सीटों को जीतकर 2022 में फिर से बीजेपी की सरकार बनानी है। पांच साल बाद सरकार बदलने का सिलसिला बदलना होगा और इस बार भाजपा इसे करके दिखाएगी।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *