शिमला: रामपुर नारकंडा मार्ग खुला, रोहड़ू, खड़ा पत्थर सड़क जुब्बल-कोटखाई की ओर से बहाल

शिमला: रामपुर नारकंडा मार्ग खुला, रोहड़ू, खड़ा पत्थर सड़क जुब्बल-कोटखाई की ओर से बहाल

  • डीसी शिमला अमित कश्यप ने की वाया बसंतपुर-धामी से जाने की सलाह

रीना ठाकुर/शिमला: शिमला में नगर निगम और लोक निमार्ण विभाग के तहत आनी वाली सड़कों को खोल दिया गया है तथा फिसलन से बचाव व मार्गो को सुचारू बनाए रखने के लिए संबद्ध विभागों को पर्याप्त मात्रा में रेत व बजरी फैंकने के निर्देश दिए। उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने आज यातायात को सामान्य बनाए रखने तथा आगामी छुट्टियों में पर्यटकों की आमद को देखते हुए आयोजित की गई बैठक के तहत यह निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि शिमला आने वाले पर्यटक को गाड़ियां शिमला शहर में लाने के लिए यदि कोई समस्या आती है तो टूटीकंडी पार्किंग को अपनी गाड़ी खड़ी करने के लिए इस्तेमाल करें। वहां से हिमाचल पथ परिवहन की बसें, टैंपो ट्रैवलर, टैक्सी व अन्य वाहनों के माध्यम से पर्यटकों को शिमला शहर में लाने के लिए व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने होटल ऐसेासिएशन के पदाधिकारियों से भी इस सम्बन्ध में सहयोग करने की अपाल की। उन्होंने पर्यटकों से पार्किंग क्षेत्रों में गाड़ी पार्क करने की अपील की ताकि जाम की समस्या बचा जा सकें। उन्होंने कहा कि कुफरी फागू क्षेत्र में भारी हिमपात को देखते हुए 4:4 वाहनों को ही जाने की अनुमति है ।

 डीसी शिमला अमित कश्यप ने की वाया बसंतपुर-धामी जाने की सलाह

डीसी शिमला अमित कश्यप ने की वाया बसंतपुर-धामी जाने की सलाह

उन्होंने बताया कि रोहड़ू, खड़ा पत्थर सड़क को जुब्बल कोटखाई की ओर से बहाल कर दिया गया है। रामपुर नारकंडा सड़क को भी यातायात के लिए खोल दिया गया है किन्तु लोग अपने गन्तव्य तक जल्दी पंहुचे इसके लिए वाया बसंतपुर-धामी जाने की सलाह दी जाती है। उन्होंने बताया कि चौपाल मार्ग को आज खोल दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारी बर्फवारी के कारण जिला में 400 डीटीआर डाउन होने की वजह से विद्युत आपूर्ति बाधि हुई थी जिसे बहाल करनें के लिए विभाग द्वारा युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि शिमला नगर में विद्युत आपूर्ति सामान्य बनी हुई है।

उन्होंने कहा कि विभिन्न सड़कों पर फिसलन की स्थिति से निपटने व मार्गो को सुचारू बनाए रखने के लिए नगर निगम, लोक निमार्ण विभाग एवं अन्य विभाग समन्वय स्थापित कर कार्य करें। उन्होंने कहा कि शिमला नगर में पर्याप्त मात्रा में जेसीबी, रोबोट व अन्य मशीनरी इस कार्य के लिए तैनात की गई है। उन्होंने वन विभाग को गिरे हुए पेड़ो को 24 घंटे के भीतर उठाने के निर्देश दिए ताकि अवरुद्ध सड़कों को तुरन्त खोला जा सकें।

उन्होंने शिमला नगर में दूध, ब्रैड,मक्खन व अन्य आवश्यक खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति की निरन्तरता सुनिश्चित बनाए रखने के लिए नियन्त्रक,खाद्य एवं आपूर्ति विभाग तथ पुलिस विभाग को व्यवस्था बनाए रखने के लिए कड़े निर्देश जारी किए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

39  +    =  46