प्रदेश में बर्फबारी व बारिश का दौर जारी कई जगहों पर यातायात बाधित, दुर्गम इलाकों में जनजीवन अस्त-व्यस्त

प्रदेश में बर्फबारी व बारिश का दौर जारी कई जगहों पर यातायात बाधित, दुर्गम इलाकों में जनजीवन अस्त-व्यस्त

शिमला: प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में दूसरे दिन मंगलवार को भी बर्फबारी का दौर जारी है। जबकि मैदानी व मध्यम ऊंचाई वाली जगहों में रूक-रूक कर बारिश हो रही है। जिसके चलते पूरा प्रदेश शीत लहर की चपेट में है। शिमला में भी बारिश हो रही है। हिमाचल में पांच एनएच सहित 493 छोटी-बड़ी सड़कें मंगलवार को भी यातायात के लिए बंद रहीं। जानकारी अनुसार मनाली-लेह, शिमला-रामपुर, कुल्लू-जलोड़ीजोत-आनी और हिंदुस्तान-तिब्बत मार्ग बंद है। रदेश में जारी बर्फबारी से एक दर्जन इलाकों का संपर्क कट गया है ।एचआरटीसी की छह दर्जन बसें विभिन्न जगह फंस गई हैं। मंगलवार को निगम के 200 रूट प्रभावित रहे।  मनाली-लेह, शिमला-रामपुर, रामपुर-किन्नौर, औट-लूहरी और चंबा-भरमौर नेशनल हाईवे अवरुद्ध रहे। लाहौल के लिए हवाई उड़ानें तीन दिन से बंद हैं। बर्फबारी के चलते परिवहन निगम की विभिन्न क्षेत्रों में 70 बसें फंसी हैं। जिला मंडी में 51 मार्ग सड़कें बंद हैं।

वहीं मनाली के समीप सोलंग वैली में लगभग 400 से 500 पर्यटक जोकि बर्फबारी में फंसे थे उनका रेस्क्यू कर लिया गया है। लेकिन उनके वाहन अभी भी सोलंग घाटी में फंसे है। बताया जा रहा है कि सोलंगनाला में सोमवार को डेढ़ फीट ताजा बर्फबारी हुई। जिसके चलते प्रशासन ने सोलंग घाटी में पर्यटकों को जाने पर पाबंदी लगाई है। भारी बर्फबारी के चलते सड़कों पर वाहनों की रफ़्तार थम गई है। ऐसे में मनाली प्रशासन ने नेहरूकुंड के पास बैरियर लगा दिया है। नेहरूकुंड के आगे पर्यटकों नहीं जाने दिया जा रहा है। कुल्लू के कई भागों में हुई बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। वहीं, लाहौल में बर्फबारी से जिंदगी ठहर सी गई है। कई दुर्गम इलाकों में बिजली-पानी न होने से लोगों की भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *