निर्भया केसः अब दोषियों ने खटखटाया अंतरराष्ट्रीय कोर्ट का दरवाजा

निर्भया के चार दोषियों को 22 जनवरी को होगी फांसी, डेथ वॉरंट जारी

नई दिल्ली: देश को झकझोर कर रख देने वाले निर्भया गैंगरेप केस में दिल्ली की एक अदालत ने चारों दोषियों को मौत की सजा के लिए डेथ वॉरंट जारी कर दिया है। पटियाला हाउस कोर्ट ने आज लंबी सुनवाई के बाद डेथ वॉरंट जारी किया। कोर्ट के फैसले के मुताबिक चारों दोषियों को 22 जनवरी को सुबह सात बजे तिहाड़ जेल में फांसी पर लटकाया जाएगा। साफ है कि दोषियों को आज से 14 दिन बाद फांसी दे दी जाएगी।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सतीश कुमार अरोड़ा ने जिन चार दोषियों के खिलाफ यह आदेश जारी किया है उनमें मुकेश, विनय शर्मा, अक्षय सिंह और पवन गुप्ता शामिल हैं। आपको बता दें कि डेथ वॉरंट के बाद कम से कम 14 दिन का वक्त दिया जाता है। इस समय में जेल प्रशासन अपनी तैयारी पूरी करेगा। पिछली सुनवाई में कोर्ट ने तिहाड़ जेल प्रशासन से दोषियों को नोटिस जारी करने को कहा था।

फैसला आने के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, ‘मेरी बेटी को न्याय मिल गया। इन चारों दोषियों को फांसी की सजा मिलने से देश की महिलाओं को ताकत मिलेगी। इस फैसले से लोगों का न्याय व्यवस्था में विश्वास बढ़ेगा।उधर, दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा है कि दस्तावेज मिलने के बाद वह सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल करेंगे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *