मुख्यमंत्री ने किया हिमाचल माईजीओवी पोर्टल व सीएम ऐप का शुभारम्भ

मुख्यमंत्री ने किया हिमाचल माईजीओवी पोर्टल व सीएम ऐप का शुभारम्भ

  • मुख्यमंत्री बोले: ऐप के माध्यम से प्रशासन को लोगों के करीब लाने का प्रयास

रीना ठाकुर/शिमला: हिमाचल माईजीओवी पोर्टल का मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां शुभारम्भ किया। यह पोर्टल शासकीय प्रणाली में जनता की भागीदारी को सुदृढ़ करने में मील का पत्थर साबित होगा। माईजीओवी पोर्टल भारत के विकास के लिए तकनीक की मदद से सरकार और नागरिकों के मध्य भागीदारी की नई अभिनव पहल है। इसका उद्देश्य प्रदेश सरकार में नागरिकों की भागीदारी को बढ़ावा देना है। जय राम ठाकुर ने इस अवसर पर सीएम ऐप का भी शुभारम्भ किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि माईजीओवी हिमाचल प्रदेश के लोगों को अपने विचारों, सुझावों, प्रतिक्रियाओं और शिकायतों को सरकार तक पहुंचाने में सहायक होगा। प्रदेश सरकार रचनात्मक आलोचनाओं पर विचार करेगी तथा राज्य और देश की बेहतरी के लिए सभी सुझावों का समन्वय करेगी।

उन्होंने कहा कि माईजीओवी हिमाचल पोर्टल और मुख्यमंत्री ऐप के माध्यम से प्रशासन को लोगों के करीब लाने का एक प्रयास है और इससे सरकार और लोगों के मध्य परस्पर संवाद सुनिश्चित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश इस ऐप की सुविधा प्रदान करने वाला देश का 11वां राज्य है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि माईजीओवी हिमाचल की मुख्य विशेषताएं विभिन्न प्रकार की सार्वजनिक नीतियों के मुद्दों पर बातचीत, चर्चा, कार्य, मत देना और ब्लागस हैं। इस ऐप की मदद से नागरिक सरकार द्वारा जनता के कल्याण के लिए विभिन्न नीतियों और कार्यक्रमों की प्रत्यक्ष और त्वरित जानकारी हासिल कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि ऐप के माध्यम से आम जनता भी नीतियों और कार्यक्रमों को अधिक प्रभावशाली और परिणाम उन्मुख बनाने के लिए अपने मूल्यवान सुझाव दे सकते हैं। इससे पूर्व प्रदेश सरकार ने जनता को उनकी समस्याओं के समाधान और सामाजिक महत्व के विभिन्न मुद्दों को उठाने के लिए सीएम सेवा संकल्प हेल्पलाइन-1100 का शुभारम्भ किया था।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश की जनता चीफ मिनिस्टर ऐप के माध्यम से उनकी शिकायतों को सीधे मुख्यमंत्री को लिख सकेंगे। उन्होंने कहा कि विभिन्न योजनाओं के मध्य सामंजस्य स्थापित करने में मददगार सिद्ध होगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *