हिमाचल: 19 से 21 दिसंबर तक प्रदेश में बारिश-बर्फबारी

बर्फ से लकदक हुए हिमाचल के पहाड़, समूचा प्रदेश शीत लहर की चपेट में

शिमला : हिमाचल की खूबसूरत पहाड़ियाँ जहाँ बर्फ की चादर ओढ़कर और भी मनमोहक हो गई हैं वहीं पर्यटकों की आवाजाही काफी बढ़ गई है। दूर-दूर से बर्फ से ढकी हंसी वादियों का दीदार करने भारी तादाद में पर्यटक पहुंच रहे हैं। दूसरी ओर दिसंबर माह में हो रही भारी बारिश से हिमाचल के किसानों-बागवानों व पर्यटन कारोबारियों के चेहरे पर रौनक देखने को मिल रही है। इस बारिश से सेब, नाशपाती, पलम, खुमानी, आड़ू की फसलों के चिलिंग आवर्स पूरे होने से आगामी सीजन में अच्छी फसल होगी। शिमला, कुल्लू, मनाली, मणिकर्ण, कसोल, बंजार में होटलों व होमस्टे में बुकिंग बढ़ी है, जिससे पर्यटन कारोबारी भी बर्फबारी

 पर्यटकों की आवाजाही काफी बढ़ी

पर्यटकों की आवाजाही काफी बढ़ी

होने से काफी खुश हैं।

लेकिन साथ ही समूचा हिमाचल जहाँ शीत लहर की चपेट में है वहीं बारिश और बर्फबारी का दौर जारी है। कड़ाके की ठंड से कई जगहों पर पानी की पाइपें जमनी शुरू हो गयी हैं वहीं कुछ जगहों पर बिजली भी गुल है। कड़ाके की ठंड के चलते लोग घरों के अंदर दुबके हुए हैं। शिमला, कुल्लू, सहित केलांग में भारी बर्फबारी का समाचार है। वहीं लाहुल स्पीति, किन्नौर के रिकांगपिओ सहित अन्य इलाकों, शिमला जिला के नारकंडा, कुफरी, चाशल, खड़ा पत्थर,चंबा के भरमौर, पांगी, सिरमौर के हरिपुरधार, चूड़धार व कांगड़ा के धौलाधार की ऊंची चोटियां, बड़ा भंगाल व मंडी के शिकारी देवी व अन्य ऊंचाई वाले इलाके बर्फ से ढके गए हैं। बर्फबारी से काजा का दुनिया से संपर्क कट गया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *