शिमला: जानें बर्फ के कारण कहाँ यातायात सुचारू तो कहाँ हुआ अवरूद्ध…

शिमला: जानें बर्फ के कारण कहाँ यातायात सुचारू तो कहाँ हुआ अवरूद्ध…

  • शिमला-कुमारसैन वाया नारकंडा सड़क यातायात के लिए खुला

शिमला: खराब मौसम के बावजूद शिमला नगर व आसपास तथा शिमला ग्रामीण क्षेत्रों के मार्ग यातायात के लिए सामान्य है। चौपाल क्षेत्र में विभिन्न सम्पर्क मार्ग, जिसमें खिड़की-मड़ोग, पुजारली-माटल, धवास-सराहन, चैपाल-झिन्ना, बावंटा-सरईं, हरिपुरधार-मालत तथा धुताली-नेरवा सड़कों पर यातायात सामान्य बनाने के लिए जेसीबी, स्नो कटर, डोजर, टिप्पर सहित 13 मशीनों व पर्याप्त मात्रा में मजदूरों की तैनाती की गई है, जिसे शीघ्र ही खोल दिया जाएगा। अतिरिक्त उपायुक्त शिमला अपूर्व देवगन ने आज यहां जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किसी भी आपातकाल स्थिति से निपटने के लिए हेल्पलाईन नम्बर 1077  तथा दूरभाष नम्बर 0177-2800880 तथा 2800881 जिला आपदा प्रबंधन सेल से सम्पर्क कर सकते हैं।

शिमला-कुमारसैन वाया नारकंडा सड़क यातायात के लिए खुला

शिमला-कुमारसैन वाया नारकंडा सड़क यातायात के लिए खुला


उन्होंने बताया कि रोहडू क्षेत्र में रोडहू-शिमला वाया खड़ा पत्थर सड़क को खोल दिया गया है जबकि 27 अन्य सम्पर्क मार्गों को सुचारू बनाए रखने के लिए 15 मशीने, जिसमें जेसीबी व अन्य मशीनें शामिल है, को विभिन्न क्षेत्रों में सड़क साफ करने के कार्य में लगा दिया गया है। रामपुर क्षेत्र में भी शिमला-रामपुर मुख्य सड़क यातायात के लिए खुली है किंतु सुरक्षा की दृष्टि से बसों को ढली से रामपुर और किन्नौर भेजा जा रहा है। सम्पर्क मार्ग सुंगरी-बाहली, मशनु-तकलेच मार्ग बंद है, जिसे सुचारू करने के लिए मशीन व मजदूरों की तैनाती कर दी गई है।

शिमला-कुमारसैन वाया नारकंडा सड़क को यातायात के लिए खोल दिया गया है। सम्पर्क मार्ग शिल्ली-कंडी-जदून, हाटू सम्पर्क मार्ग, नारकंडा-दोजा, शिल्ली-कंडी-नगरोट जल सड़कें बर्फबारी की वजह से अवरूद्ध है, जहां पर पर्याप्त मात्रा में मशीन व मजदूरों को तैनात कर इसे शीघ्र खोलने का प्रयास किया जा रहा है। चौपाल-रोहडू-डोडरा क्वार के कुछ क्षेत्रों को छोड़कर जिला में विद्युत आपूर्ति सामान्य है। विद्युत आपूर्ति बाधित क्षेत्रों में आपूर्ति बहाल करने के लिए मशीन व कर्मचारियों की तैनाती की जा चुकी है। जिला में पेयजल आपूर्ति बाधित होने की कोई भी शिकायत अभी तक प्राप्त नहीं हुई है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *