एसजेवीएन ने रजत जयंती मेधावी छात्रवृत्तियों से नवाजे प्रदेश के 87 मेधावी विद्यार्थी

एसजेवीएन ने रजत जयंती मेधावी छात्रवृत्तियों से नवाजे प्रदेश के 87 मेधावी विद्यार्थी

  • ‘एसजेवीएन रजत जयंती छात्रवृत्ति योजना’ के तहत अब तक 1537 मेधावी छात्र पुरस्कृत : अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा
  • एसजेवीएन रजत जयंती छात्रवृत्ति योजना’ से 828 छात्र और 709 छात्राएं शामिल
  •  एसजेवीएन का “छात्रवृत्ति कार्यक्रम” शिक्षा के क्षेत्र में अनूठी और प्रेरणादायक पहल : राज्‍यपाल

शिमला : हिमाचल प्रदेश के राज्‍यपाल बंडारु दत्‍तात्रेय ने शिमला में हिमाचल प्रदेश के 87 विद्यार्थियों को मेधावी छात्रवृत्तियां प्रदान की। एसजेवीएन के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा, निदेशक (विद्युत) आर.के.बंसल, निदेशक (कार्मिक), गीता कपूर तथा निदेशक (सिविल) एस.पी.बंसल सहित एसजेवीएन के अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

एसजेवीएन ने अपनी सीएसआर की पहल-एसजेवीएन रजत जयंती मेधावी छात्रवृत्ति योजनाके तहत अपने प्रचालन वाले राज्‍यों से शैक्षणिक सत्र 2018-19

‘एसजेवीएन रजत जयंती छात्रवृत्ति योजना’ के तहत अब तक 1537 मेधावी छात्र पुरस्कृत : अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा

‘एसजेवीएन रजत जयंती छात्रवृत्ति योजना’ के तहत अब तक 1537 मेधावी छात्र पुरस्कृत : अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा

के 12वीं कक्षा के मेधावी विद्यार्थियों को छात्रवृत्तियां प्रदान की है। आज हिमाचल प्रदेश के 87 मेधावी विद्यार्थियों को एसजेवीएन कारपोरेट मुख्‍यालय, शिमला में आयोजित एक समारोह में छात्रवृत्तियां प्रदान की गई।  इसके अलावा, अन्‍य राज्‍यों नामतः उत्‍तराखंड, बिहार, महाराष्‍ट्र तथा गुजरात में एसजेवीएन की परियोजनाएं भी अपने संबंधित कार्यालयों से वर्ष 2019 के लिए शेष 63 मेधावी छात्रवृत्तियां प्रदान करेगी।

इस अवसर पर नंद लाल शर्मा ने हिमाचल प्रदेश के राज्‍यपाल, बंडारु दत्‍तात्रेय का गर्मजोशी से स्‍वागत किया और बताया कि एसजेवीएन अपनी सीएसआर और सततशील पहलें एसजेवीएन फाऊंडेशन के माध्‍यम से करता है। वर्ष 2012 में, एसजेवीएन फाऊंडेशन ने विद्यार्थियों के मध्‍य स्‍वस्‍थ प्रतिस्‍पर्धा की भावना उत्‍पन्‍न करने और विभिन्‍न विधाओं में उच्‍च अध्‍ययन कर सकने में उनकी सहायता करने के लिए रजत जयंती मेधावी छात्रवृत्ति योजना आरंभ की थी।

12वीं कक्षा के इन मेधावी विद्यार्थियों का चयन एसजेवीएन के प्रचालन वाले राज्‍यों से सीबीएसई, आईसीएसई तथा राज्‍य शिक्षा बोर्ड के स्‍कूलों से किया जाता है। इसके पश्‍चात इन चयनित विद्यार्थियों को अपना पाठ्यक्रम पूरा करने तक प्रतिमाह 2000/- रुपए की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।   यह छात्रवृत्तियां परियोजना प्रभावित क्षेत्र (पीएए) के विद्यार्थियों सहित तीन श्रेणियों नामतः सामान्‍य, पीडब्‍ल्‍यूडी तथा बीपीएल से संबंधित विद्यार्थियों को प्रदान की जाती है।  इस योजना का उद्देश्‍य बीपीएल परिवारों के विद्यार्थियों तथा दिव्‍यांगों (पीडब्‍ल्‍यूडी) को अवसर उपलब्‍ध करवाना भी है क्‍योंकि इन श्रेणियों के विद्यार्थियों के लिए इसमें क्रमशः 30% तथा 10%  छात्रवृत्तियों के संवितरण का विशेष प्रावधान है। 

 एसजेवीएन का “छात्रवृत्ति कार्यक्रम” शिक्षा के क्षेत्र में अनूठी और प्रेरणादायक पहल : राज्‍यपाल

एसजेवीएन का “छात्रवृत्ति कार्यक्रम” शिक्षा के क्षेत्र में अनूठी और प्रेरणादायक पहल : राज्‍यपाल

उन्होंने कहा कि निगम अपने सामाजिक उत्तरदायित्व एवं अन्य सम्बन्धित पहलुओं का संचालन एसजेवीएनएल फाउंडेशन के माध्यम से करता है। वर्ष 2012 में इस फाउंडेशन ने सिल्वर जुबली मेरिट छात्रवृत्ति योजना विद्यार्थियों में प्रतिस्पर्धा की भावना को बढ़ावा देने और उन्हें विभिन्न संकायों में उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए प्रेरित करने के लिए स्थापित किया था। उन्होंने कहा कि एसजेवीएनएल अपनी उपस्थिति वाले विभिन्न राज्यों में केन्द्रीय माध्यमिक बोर्ड, आईसीएसई और राज्य बोर्डों से 12वीं परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थियों का चुनाव करता है। उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत अब तक 1537 मेधावी छात्रों को पुरस्कृत किया जा चुका है। इनमें 828 छात्र और 709 छात्राएं शामिल हैं।

एसजेवीएन रजत जयंती छात्रवृत्ति योजना’ से 828 छात्र और 709 छात्राएं शामिल

एसजेवीएन रजत जयंती छात्रवृत्ति योजना’ से 828 छात्र और 709 छात्राएं शामिल

मुख्‍य अतिथि हिमाचल प्रदेश के राज्‍यपाल बंडारु दत्‍तात्रेय ने अपने संबोधन में उन विद्यार्थियों को बधाई दी जिन्‍हें आज छात्रवृत्ति से सम्‍मानित किया गया।   उन्‍होंने शिक्षा के क्षेत्र में पहल करने के लिए एसजेवीएन की सराहना की। राज्यपाल ने कहा कि एसजेवीएन न केवल ऊर्जा क्षेत्र में बहु प्रतिष्ठित संस्थान है, बल्कि समाज के लिए भी निस्वार्थ भाव से निरंतर कार्य कर रहा है। यह छात्रवृत्ति कार्यक्रम शिक्षा के क्षेत्र में निःसन्देह ही एक अनूठी और प्रेरणादायक पहल है। निदेशक कार्मिक गीता कपूर ने छात्रवृत्ति योजना के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी।

मुख्य महाप्रबंधक, मानव संसाधन विकास डी.पी. कौशल ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मैहली के विद्यार्थियों ने इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *