राजधानी की आबोहवा को दूषित होने से बचाने व ट्रैफिक को कैसे कम किया जाए के उपाय बताएगी विदेशी कंपनी

राजधानी की आबोहवा को दूषित होने से बचाने व ट्रैफिक को कैसे कम किया जाए के उपाय बताएगी विदेशी कंपनी

शिमला : शिमला शहर शुद्ध आवोहवा के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। वैसे अभी यहां प्रदूषण की समस्या नहीं है लेकिन आने वाले समय में दिल्ली की तरफ शिमला का हाल न हो इसके लिए अभी से प्रयास किए जा रहे है ताकि आने वाली पीढ़ी को भी शुद्ध हवा मिल सके। राजधानी शिमला में ट्रैफिक जाम और प्रदूषण को कम करने के लिए इटली की कंपनी नगर निगम के साथ मिलकर काम करेगी। इको लॉजस्टिक प्रोजेक्ट के तहत देश के तीन शहरों का विदेशी कंपनी ने चयन किया है, जिसमें शिमला शहर भी शामिल है। यह कंपनी शहर को प्रदूषण से कैसे बचाया जाए और ट्रैफिक को कैसे कम किया जाए इस पर कार्य करेगी। खासकर शहर में आने वाले सामान ढोने वाले वाहनों का सर्वे किया जाएगा कि किस तरह से इन वाहनों के आने से समस्या खड़ी होती है।

कंपनी शहर में सबसे ज्यादा प्रदूषण ओर ट्रैफिक जाम किन क्षेत्रों में है इसको लेकर भी सर्वे करेगी और स्टेक होल्डर के साथ-साथ आम लोगों से सुझाव लेकर प्लान तैयार करेगी। इस प्रोजेक्ट में नगर निगम के अलावा ट्रैफिक पुलिस, जिला प्रशासन को भी शामिल किया जाएगा। नगर निगम के साथ इटली की कंपनी के अधिकारियों ने बैठक भी की है और जल्द ही इस प्रोजेक्ट पर कंपनी कार्य भी शुरू करेगी। ये सारा प्रोजेक्ट विदेशी कम्पनी द्वारा फंडिड होगा और इसके लिए कर्मचारी भी कंपनी नगर निगम को मुहैया करवाएगी

नगर निगम की महापौर कुसुम सदरेट ने कहा कि प्रदूषण से दिल्ली जैसे हालात शिमला के न हो इसके लिए विदेशी कम्पनी के साथ मिलकर काम किया जा रहा है ताकि राजधानी शिमला को प्रदूषण से बचाया जा सखे। उन्होंने कहा कि ये कंपनी शहर में प्रदूषण को कम करने के साथ शहर में ट्रैफिक समस्या से भी निजात दिलाने के लिए सुझाव देगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *