प्रारम्भिक शिक्षा में नवीनतम तकनीकों एवं सकारात्मक बदलावों की आवश्यकता : शिक्षा मंत्री

प्रारम्भिक शिक्षा में नवीनतम तकनीकों एवं सकारात्मक बदलावों की आवश्यकता : शिक्षा मंत्री

  • राज्य के शिक्षकों की प्रशिक्षण कार्यशाला सम्पन्न

अंबिका/शिमला: पांच दिवसीय समग्र शिक्षा अभियान द्वारा आयोजित राज्य के शिक्षकों की प्रशिक्षण कार्यशाला के समापन समारोह में बतौर मुख्यातिथि शिक्षा, विधि एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने शिरकत की।

इस अवसर पर कार्यशाला में राज्य के शिक्षकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रारम्भिक शिक्षा में नवीनतम तकनीकों एवं सकारात्मक बदलावों की आवश्यकता है, जिससे छात्रों को मजबूत नींव प्रदान हो और उनका समग्र विकास संभव हो।

शिक्षा मंत्री ने संस्कारयुक्त एवं रचनात्मक शिक्षा पद्धति पर बल दिया, जिससे विद्यार्थी एवं शिक्षक के बीच सीधा संवाद स्थापित हो सके और वैश्विक प्रतिस्पर्धा के दौर में विद्यार्थी वर्ग अपने लक्ष्य को हासिल कर सके।

उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार गुणात्मक एवं व्यवसायिक शिक्षा पर बल दे रही है ताकि विद्यार्थियों के कौशल विकास से रोजगार एवं स्वरोजगार को संभल प्रदान हो।

शिक्षा मंत्री ने एनसीईआरटी को प्रशिक्षण कार्यक्रम में उल्लेखनीय सहयोग देने के लिए आभार व्यक्त किया और शिक्षा पद्धति में महत्वपूर्ण सुधार लाने के लिए उनकी सराहना की। उन्होंने राज्य के प्रशिक्षण प्राप्त शिक्षकों से आह्वान किया कि वे धरातल पर सकारात्मक प्रभाव लाएं और प्रदेश को शिक्षा में केरल राज्य का अव्वल स्थान दिलाएं।

प्रधान सचिव शिक्षा केके पंत ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और उन्हें पांच दिवसीय कार्यशाला के प्रशिक्षण कार्यक्रम की बारीकियों से अवगत करवाया।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *