बिना जांच के एट्रोसिटी एक्ट को लागू करने व आरक्षण के विरोध में नारेबाजी

बिना जांच के एट्रोसिटी एक्ट को लागू करने व आरक्षण के विरोध में नारेबाजी


शिमला:  एससी-एसटी एक्ट संशोधन व आरक्षण के खिलाफ देवभूमि क्षत्रिय संगठन ने सचिवालय के बाहर हल्ला बोला और गिरफ्तारियां दी। संगठन के कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के दबाव में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा बिना जांच के एट्रोसिटी एक्ट को लागू करने व आरक्षण के विरोध में खूब नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। संगठन के अध्यक्ष रुमित सिंह ठाकुर ने कहा कि एससी एसटी एक्ट में जो प्रावधान किए हैं, उसके तहत यदि कोई व्यक्ति झूठा मुकदमा भी दर्ज करवाता है तो 24 घंटे के अंदर गिरफ़्तारी जरूरी हो जाती है। ऐसे में इस एक्ट के तहत 85 फीसदी मामले झूठे बनाए जाते हैं, जिसमें छह माह तक कैद हो जाती है। सरकार को चाहिए कि इस एक्ट में संशोधन किया जाए ताकि झूठे मुकदमे करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई हो सके।

उन्होंने कहा कि देश मे जाति के आधार पर आरक्षण के बजाय आर्थिक आधार पर आरक्षण हो। क्योंकि जातिगत आधार पर आरक्षण से जरूरतमंदों को कुछ नहीं मिल रहा है जबकि साधन संपन्न लोग ही इसका फायदा उठा रहे है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *