हिमुडा को डिमांड सर्वे के एवज में ली गई धनराशि लोगों को वापिस करने के निर्देश

‘राइजिंग हिमाचल’ ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट पर प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर और परम्पराओं को भी किया जाएगा उजागर

  • राइजिंग हिमाचल’ ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट को लेकर सचिवालय में बैठक
  • बड़े पैमाने पर होगा निवेशकों को आकर्षित करने के लिए 7 और 8 नवम्बर को धर्मशाला में ‘राइजिंग हिमाचल’ इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन
  • इन्वेस्टर्स मीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाग लेने की भी संभावना

शिमला: अतिरिक्त मुख्य सचिव राम सुभग सिंह की अध्यक्षता में आज यहां आयोजित एक समीक्षा बैठक में ‘राइजिंग हिमाचल’ ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट (जीआईएम) के दिन 7 नवम्बर को मेगा सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन के लिए रूपरेखा तैयार की गई। इनवेस्टर मीट नवम्बर माह में धर्मशाला में आयोजित की जा रही है।

राम सुभग सिंह ने प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर और परम्पराओं को उत्कृष्ट सांस्कृतिक दलों के माध्यम से प्रदर्शित करने पर बल दिया। उन्होंने भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग से सिरमौर, किन्नौर, चम्बा, कांगड़ा, मण्डी और कुल्लू जिलों से श्रेष्ठ दलों को आमन्त्रित करने के लिए भाषा कला एवं संस्कृति विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए, जिसमें तिब्बती इंस्टीट्यूशन ऑफ परफार्मिंग आर्ट्स (टीआईपीए) से भी इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में तिब्बती संस्कृति को प्रदर्शित करने का अनुरोध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, हिमाचली लोक गायक करनैल राणा भी इस आयोजन का हिस्सा होंगे। उन्होंने कहा कि इस आयोजन के लिए हिमाचल से संबंधित बालीवुड पाश्र्व गायक, मोहित चैहान को भी निमंत्रण दिया जाएगा ।

उन्होंने ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के शुभारम्भ से एक दिन पूर्व 6 नवंबर को फुल ड्रेस रिहर्सल करने के भी निर्देश दिए।

बड़े पैमाने पर निवेशकों को आकर्षित करने के लिए इस वर्ष 7 और 8 नवम्बर को धर्मशाला में ‘राइजिंग हिमाचल’ इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन किया जा रहा है। इन्वेस्टर्स मीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाग लेने की भी संभावना है।

भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग के अधिकारियों ने कहा कि 1 से 8 नवम्बर, 2019 तक कांगड़ा जिला के विभिन्न क्षेत्रों में ‘त्रिगर्त’ उत्सव का भी आयोजन किया जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *