स्वास्थ्य विभाग ने दवा खरीद में अनियमितताओं के आरोपों को बताया निराधार

ग्लोबल इन्वेस्टर्ज़ मीट के सफल आयोजन के लिए नौ समितियां गठित

रीना ठाकुर/शिमला: ग्लोबल इन्वेस्टर्ज़ मीट के सफल आयोजन के लिए धर्मशाला में 7 व 8 नवम्बर को आयोजित होने वाली राज्य सरकार ने नौ समितियों का गठन किया है। इनमें आयोजन, आतिथ्य एवं प्रोटोकाॅल, परिवहन, शहर का सौन्दर्यीकरण एवं स्वच्छता, मीडिया, प्रदर्शनी, सांस्कृतिक, सुरक्षा, अग्निशमन व आपातकालीन सुविधा और स्थानीय समन्वय समितियां शामिल हैं।

इसके अतिरिक्त, चार पेशेवर एजेंसियों-नेशनल पार्टनर कन्फडरेशन आॅफ इण्डियन इन्डस्ट्री (सीआईआई), नालेज पार्टनर अरनस्ट एण्ड यंग एलएलपी, मीडिया पार्टनर सक्वेयर कम्यूनिकेशन लिमिटेड और इवेंट पार्टनर इन्टीग्रेटिड कान्फ्रेंस एण्ड ईवेंट मेनेजमेंट (आईसीई) को कार्य दिए गए हैं। इन एजेंसियों को ग्लोबल इन्वेस्टर्ज़ मीट की योजना, प्रारूप और विभिन्न पहलुओं के कार्यान्वयन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। राज्य सरकार ने जिन नौ समितियों का गठन किया है, उन्हें ये एजेंसियां विभिन्न कार्यों में सहयोग देंगी।

आयोजन समिति का गठन मुख्य सचिव की अध्यक्षता में किया गया है जो इस सम्मेलन के सामान्य निरीक्षण और सहयोग का कार्य करेगी। यह समिति प्रधानमंत्री कार्यालय, अन्य केंद्रीय मंत्रालयों, केंद्रीय मंत्रियों, देशों, राज्यों तथा राजदूतों से सम्पर्क रखेगी।

आतिथ्य और प्रोटोकाॅल समिति की अध्यक्षता सचिव सामान्य प्रशासन करेंगे जो अति-विशिष्ट व्यक्तियों का प्रोटोकाॅल सुनिश्चित करेगी और अतिथियों के ठहरने की व्यवस्था करेगी।

परिवहन समिति की अध्यक्षता प्रधान सचिव परिवहन करेंगे। यह समिति इन्वेस्टर्ज़ मीट के लिए ट्रैवल पार्टनर का चुनाव और विशिष्ट व्यक्तियों और प्रतिनिधियों के लिए वाहनों का प्रबन्धन करेगी।

उपायुक्त कांगड़ा को शहर के सौन्दर्यीकरण और स्वच्छता समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। यह समिति धर्मशाला और इसके आस-पास के क्षेत्रों में होर्डिंग, बैनर आदि लगाने के अतिरिक्त सड़कों, हवाई अड्डा, धर्मशाला शहर, पर्यटक स्थलों की सफाई व मुरम्मत सुनिश्चित बनाएगी।

मीडिया समिति का गठन प्रधान सचिव सूचना एवं जन सम्पर्क की अध्यक्षता में किया गया है, जो आयोजन से पूर्व, इसके दौरान और इसके उपरान्त मीडिया में प्रचार-प्रसार और अति-विशिष्ट व्यक्तियों की प्रेस वार्ताएं आयोजित करेगी।

प्रधान सचिव (शिक्षा) प्रदर्शनी समिति की अध्यक्षता करेगे, जो प्रदर्शनी क्षेत्र के विभिन्न पहलुओं जैसे डिजाइन आदि को स्वीकृत करेगी। यह समिति कम्पनियों, संस्थाओं और सरकारी उपक्रमों को प्रदर्शनी के लिए स्टाॅलों का आवंटन भी करेगी।

संास्कृतिक समिति का गठन सांस्कृतिक संध्याओं की विषय वस्तु और इस दौरान आयोजित होने वाले कार्यक्रमों का निर्धारण करेगी। समिति संस्कृतिक संध्याओं में भाग लेने वाले स्थानीय और राष्ट्रीय सांस्कृतिक दलों का चुनाव तथा उन्हें आमंत्रण, कलाकारों, प्रतिष्ठित व्यक्तियों का भी चुनाव करेगी। इस समिति की अध्यक्षता अतिरिक्त मुख्य सचिव भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग करेंगे।

सुरक्षा, अग्निशमन और आपातकालीन सेवा समिति का गठन पुलिस महानिदेशक की अध्यक्षता में किया गया है। यह समिति आयोजन स्थल, होटलों, हवाई अड्डा और अन्य स्थानों पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार की सुरक्षा एजेंसियों, एसपीजी आदि से सम्पर्क में रहेगी। समिति अति-विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा, अग्निशमन, प्राथमिक उपचार एवं स्वास्थ्य सुविधाओं जैसी आपातकालीन सेवाओं को सुनिश्चित करेगी।

स्थानीय समन्वय समिति का गठन उपायुक्त कांगड़ा की अध्यक्षता में किया गया है। यह समिति आयोजन समितियों को सहायता प्रदान करेगी। यह समिति ईवेंट पार्टनर, नेशनल पार्टनर और समितियों को सभी आवश्यक एन.ओ.सी. और स्वीकृतियां दिलाने में सहायता करेगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *