बीड-बिलिंग और पौंग डैम में मिलेगी विश्व स्तरीय सुविधाएं : मुख्यमंत्री

बीड-बिलिंग और पौंग डैम में मिलेगी विश्व स्तरीय सुविधाएं : मुख्यमंत्री

  • मुख्यमंत्री ने कांगड़ा सेंट्रल कोऑपरेटिव बैंक की विभिन्न योजनाओं का किया शुभारम्भ

रीना ठाकुर/शिमला: राज्य सरकार बीड बिलिंग को साहसिक खेलों तथा पौंग डैम को जलक्रीड़ाओं के लिए विकसित करने के प्रति कृतसंकल्प है ताकि इन स्थलों को विश्व स्तरीय पर्यटक गंतव्य के रूप में विकसित किया जा सके। यह बात आज मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने धर्मशाला में आयोजित पंचायत प्रतिनिधियों के सम्मेलन तथा द कांगड़ा सेंट्रल कोऑपरेटिव बैंक (केसीसीबी) के शताब्दी समारोह की अध्यक्षता करते हुए कही।

जय राम ठाकुर ने प्रदेश की जनता तथा विशेषकर कांगड़ा जिला की जनता का लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार को भारी मतों से जीत दिलाने के लिए आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि भाजपा के चारों उम्मीदवरों ने रिकॉड मतों से जीत हासिल की है, जोकि पूरे देश में सर्वाधिक है। उन्होंने कहा कि कांगड़ा लोकसभा क्षेत्र के उम्मीदवार ने 72 प्रतिशत वोट हासिल कर एक नया रिकॉड बनाया है। उन्होंने कहा कि शिमला लोकसभा क्षेत्र से भी भाजपा प्रत्याशी ने 3.70 लाख से अधिक मत प्राप्त कर जीत दर्ज की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सत्ता हासिल करने के तुरन्त बाद ही, वर्तमान सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के विकास पर विशेष बल दिया है क्योंकि प्रदेश की 90 आबादी गांवों में रहती है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश को केरल के बाद बाह्य शौचमुक्त राज्य बनाना एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के भरपूर सहयोग से प्रदेश में विकास को गति मिली है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत विश्वशक्ति के रूप में उभरा है। उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री की दृढ़ इच्छाशक्ति का ही परिणाम है कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 तथा 35ए समाप्त कर एक इतिहास बनाया है और अब भारत एक संविधान एक निशानवाला राष्ट्र बन गया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा जनधन योजना, आयुष्मान भारत, किसान सम्मान निधि योजना, उज्ज्वला योजना जैसी केन्द्रीय योजनाएं चलाई गई हैं, जो नया भारत बनाने में मील का पत्थर साबित होंगी। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से वंचित लोगों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा हिमकेयर योजना चलाई गई जिसके तहत 22 लाख लोगों को लाया गया है। इसी प्रकार प्रदेश सरकार द्वारा उज्ज्वला योजना से वंचित परिवारों के लिए गृहिणी सुविधा योजना शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि गम्भीर रोगों से ग्रस्त मरीजों की सहायता के लिए सहारा योजना आरम्भ की गई है। इस योजना के तहत रोगी की बेहतर देखभाल के लिए प्रतिमाह 2000 रुपये की राशि प्रदान की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने इस वर्ष 7 तथा 8 नवम्बर को धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के आयोजन का निर्णय लिया है, जिसका उद्देश्य हिमाचल प्रदेश को देश का औद्योगिक हब बनना है। उन्होंने कहा कि यह अत्यन्त दुर्भाग्यपूर्ण है कि विपक्ष इसका राजनीतिकरण करने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि ग्लोबल इन्वेस्टर मीट धर्मशाला को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने में भी सहायक होगी। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में कुछ ही माह में रोप-वे का कार्य पूरा हो जाएगा, जो पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कांगड़ा सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के नए उत्पादों व योजनाओं का शुभारम्भ किया, जिसमें कर्मचारियों, कृषकों, महिलाओं और डेयरी विकास से संबंधित व्यक्तियों के लिए स्वाधन-एक शताब्दी उपहारजैसी शताब्दी योजनाएं शामिल हैं। उन्होंने इस अवसर पर फोटो गैलरी बैंक के 100वें एटीएम का शुभारम्भ और कांगड़ा सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के लोगोको भी जारी किया।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 अभियान का शुभारम्भ किया और मुख्यमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को बधाई पत्रप्रदान किए और जल शक्ति अभियान का शुभारम्भ किया।

इससे पहले, मुख्यमंत्री ने 4.94 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली काहलियां से त्यारा ढुगियारी सड़क का भूमि पूजन, 66.51 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले गाबली थेर से बैदी सड़क का लोकार्पण तथा 2.16 करोड़ रुपये की लागत से तरखानकड़ से सनौर लाहड़ सम्पर्क सड़क का भूमि पूजन किया। उन्होंने 2.50 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले कांगड़ा पुलिस स्टेशन की आधारशिला रखी। उन्होंने इस अवसर पर 2.04 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित अग्निशमन केन्द्र व कार्यालय भवन कांगड़ा और 66 लाख रुपये की लागत से निर्मित सामान्य पुलिस आवास का लोकार्पण भी किया। उन्होंने इस अवसर पर 111.19 लाख रुपये की लागत से किए जाने वाले मस्तपुर, कालंधेर पटोला, गांग, भारून सड़क और इच्छी सड़क के शेष कार्य का भूमि पूजन किया और मस्तपुर में एक पौधा रोपित किया।

मुख्यमंत्री ने कोतवाली बाजार में 1.60 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित आर्ट गैलरी का लोकार्पण और 3.22 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले पशुपालन विभाग के कार्यालय भवन की आधारशिला भी रखी।

इसके उपरांत, मुख्यमंत्री ने भागन खड्ड-प्प् पर निर्मित होने वाले लगभग 4 करोड़ रुपये की लागत से स्पेन आरसीसी टी-बीम ब्रिज की आधारशिला रखी और 1.78 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित कनेड से थाम्बा सम्पर्क सड़क जिसमें घियारी खड्ड पर बना पुल भी शामिल है का लोकार्पण किया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *