पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदम्बरम मामले पर विपक्ष का सदन से वाकआउट

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदम्बरम मामले पर विपक्ष का सदन से वाकआउट

  • बदले की भावना से की केंद्र सरकार ने यह कार्रवाई : नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री

शिमला : विधानसभा मॉनसून सत्र के चौथे दिन वीरवार को प्रश्नकाल के दौरान सदन में पी. चिदम्बरम की गिरफ्तारी का मामला गूंजा। केंद्र सरकार के खिलाफ विपक्ष ने सदन में जोरदार नारेबाजी की और सदन से वाकआउट कर दिया। सदन में नेता प्रतिपक्ष ने पी. चिदंबरम वाला मामला उठाते हुए सदन में प्वाइंट ऑफ ऑडर के अंतर्गत मामला उठाने की कोशिश की, लेकिन विधानसभा स्पीकर डॉ. राजीव बिंदल ने कहा कि बिना नोटिस के ऐसे विषयों पर चर्चा नहीं हो सकती, इस बीच विपक्षी सदस्यों ने सदन में हंगामा शुरू कर दिया। केंद्र की मोदी सरकार कांग्रेस पार्टी के नेताओं को निशाना बना रही है। केंद्र सरकार इस प्रकार की अलोकतांत्रिक कार्रवाई को अमल में ला रही है। 15 मिनट के वाकआउट के बाद विपक्ष सदन की कार्रवाई में लौट गया।

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जब पी. चिदम्बरम ईडी व सीबीआई की जांच में सहयोग कर रहे थे बावजूद इसके बदले की भावना से केंद्र सरकार के इशारे पर कांग्रेस नेता को नाटकीय ढंग से गिरफ्तार किया गया। केंद्र सरकार की यह कारवाई बदले की भावना से की गई है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *