भारी वर्षा से क्षतिग्रस्त सड़कों में से अधिकतर सड़कें यातायात के लिए बहाल : नरेन्द्र बरागटा

भारी वर्षा से क्षतिग्रस्त सड़कों में से अधिकतर सड़कें यातायात के लिए बहाल : नरेन्द्र बरागटा

  • जुब्बल-नावर-कोटखाई क्षेत्र में सेबों को मंडियों तक पहुंचाने के लिए लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़कों का मुरम्मत कार्य युद्धस्तर पर
  • बरागटा ने दिए उपमंडलाधिकारी रोहड़ू तथा ठियोग को बरसात से हुए नुकसान का मूल्यांकन कर रिपोर्ट जल्द प्रस्तुत करने के निर्देश

शिमला: मुख्य सचेतक एवं संयोजक जनमंच नरेन्द्र बरागटा ने आज यहां बताया कि विधानसभा क्षेत्र जुब्बल-कोटखाई के अंतर्गत भारी वर्षा के कारण क्षतिग्रस्त सड़कों में से अधिकतर सड़कों को यातायात के लिए बहाल कर दिया गया है। नरेन्द्र बरागटा ने बताया कि जुब्बल-नावर-कोटखाई क्षेत्र में सेबों को मंडियों तक पहुंचाने के लिए लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़कों का मुरम्मत कार्य युद्धस्तर पर किया जा रहा है। क्षतिग्रस्त सड़कों में पर्याप्त मात्रा में मशीनरी व अन्य उपकरण उपलब्ध करवाए गए हैं, ताकि सड़कों की दुरूस्ती कर यातायात को सुचारू किया जा सके और बागवानों के उत्पाद अविलम्ब मंडियों तक पहुंच सकें।

उन्होंने उपमंडलाधिकारी रोहड़ू तथा उपमंडलाधिकारी ठियोग को निर्देश जारी कर बरसात के कारण हुए नुकसान का मूल्यांकन कर जल्द रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने जुब्बल-नावर-कोटखाई की सड़कों को जल्द बहाल करने के लिए अधिकारियों की सराहना भी की। लोक निर्माण विभाग के अतिरिक्त अन्य सम्पर्क सड़कों को भी बहाल कर दिया गया है तथा शेष सड़कों को बहाल करने के लिए मुरम्मत कार्य प्रगति पर हैं।

उन्होंने बताया कि लोक निर्माण विभाग के जुब्बल मंडल के अंतर्गत 120 सड़कों में से 111 सड़कें यातायात के लिए सुचारू कर दी गई हैं, शेष सड़कें बहाल करने के लिए पर्याप्त मशीनरी व अन्य उपकरणों को तैनात कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि टिक्कर उपमंडल के तहत 28 सड़कों में से 24 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही आरंभ कर दी गई है। उन्होंने बताया कि कोटखाई मंडल के अंतर्गत आने वाली वर्षा के कारण अवरूद्ध हुई 31 सड़कों में से 23 सड़कें यातायात के लिए खोल दी गई हैं, जबकि 08 सड़कों का मुरम्मत कार्य जारी है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *