कुल्लू: भारी बारिश ने जगह-जगह मचाई तबाही, मनाली में पुल बहा

कुल्लू: भारी बारिश ने जगह-जगह मचाई तबाही, मनाली में पुल बहा

कुल्लू : प्रदेश भर में भूस्खलन से करीब 30 सड़कें बंद हैं। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 13 अगस्त तक पूरे प्रदेश में मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान जारी किया है। कुल्लू जिले में भारी बारिश से व्यापक नुकसान हुआ है। जिले की उझी घाटी में बादल फटने से भारी नुकसान की सूचना है। जानकारी के अनुसार घाटी की हलाण-2 पंचायत के बड़ाग्रां में बादल फटने से नाले में बाढ़ आ गई। इससे सबसे ज्यादा नुकसान पतलीकूहल बाजार को हुआ है। बादल फटने के बाद लोगों में अफरा-तफरी मच गई। पुलिस ने हूटर बजाकर लोगों को जगाया। तड़के चार बजे पतलीकूहल बाजार को खाली करवाया गया।

मनाली घाटी में रातभर से हो रही भारी बारिश के चलते ब्यास नदी उफान पर है। जलस्तर बढ़ने से ब्यास नदी पर बना सोलंग गांव को जोड़ने वाला पैदल पुल बह गया। इसके चलते जिले का सोलंग गांव से संपर्क टूट गया है। आजादी के 70 वर्षों बाद भी इस गांव में स्थायी पुल नहीं बन पाया है।

 वहीं, उपमंडल मनाली के तहत मढ़ी के नजदीक भूस्खलन से मार्ग यातायात के लिए बंद हो गया। इसके चलते सैकड़ों वाहन फंसे रहे। भारी बारिश के बाद यहां बड़ी-बड़ी चट्टानें सड़क पर आ गई हैं।

बुधवार दोपहर न्यू सब्जी मंडी कुल्लू के पास एक कार बह गई। कार में सवार दो लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया। एसडीएम और एसएचओ भी मौके पर पहुंचे। ब्यास नदी के किनारे को खाली करवाया गया।

पठानकोट-चंबा-भरमौर नेशनल हाईवे पर लाल ढांक के पास पहाड़ी से बड़ी-बड़ी चट्टानें गिर गईं। इसके चलते हाईवे पर वाहनों की आवाजाही बंद है।

वहीं, जालंधर-मंडी नेशनल हाईवे-70 वाया धर्मपुर-पारछू पर भी भारी भूस्खलन हुआ है। हाईवे पर बड़ी-बड़ी चट्टानें आ गई हैं। इसके चलते यहां वाहनों की आवाजाही बाधित है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *