शिमला के मालरोड में टहलते सैलानी

घंटों ट्रैफिक और गाड़ियों को पार्किंग की जगह ना मिलने से पर्यटक और स्थानीय लोग परेशान

  • शिमला की हसीन वादियों को निहारने बड़ी संख्या में पहुंच रहे सैलानी
  • घंटों ट्रैफिक और गाड़ियों को पार्किंग की जगह ना मिलने से पर्यटक और स्थानीय लोग परेशान
  • हर रोज पांच से सात हजार के करीब पर्यटकों के शिमला पहुंचने का अनुमान
  • पर्यटकों के साथ-साथ स्थानीय लोग भी ट्रैफिक की समस्या से हो रहे परेशान
शिमला के रिज मैदान में घुमने का आनंद लेते पर्यटक

शिमला के रिज मैदान में घुमने का आनंद लेते पर्यटक

शिमला: जहां मैदानी क्षेत्रों में गर्मी अपने प्रचण्ड रूप धारण किए हुए है वहीं इन दिनों हिमाचल का मौसम बड़ा सुहावना बना हुआ है। जिसके चलते सैलानी हिमाचल की हसीन वादियों की ओर अपना रूख कर रहे हैं। पहाड़ों की रानी शिमला इन दिनों पर्यटकों के आगमन से गुलज़ार है। मैदानी क्षेत्रों में गर्मी बढ़ने से इस माह शिमला में रिकॉर्ड संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं। मैदानी क्षेत्रों में स्कूलों में छुट्टिया पड़ने से बड़ी संख्या में सैलानी शिमला सहित प्रदेश के अन्य पर्यटन स्थलों घूमने आ रहे हैं। शिमला में एक ओर जहां पर्यटकों की आवाजाही बनी हुई है वहीं उन्हें यहां जाम व अन्य दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस सबके बावजूद पर्यटक यहां छुट्टियों का भरपूर लुत्फ उठा रहे हैं। हिमाचल की हसीन वादियां पर्यटकों को रास आ रही हैं।

Vehicles

शिमला में लक्कड़ बाज़ार के पास लगा ट्रैफिक

इन दिनों प्रदेश की राजधानी शिमला में बड़ी संख्या में पर्यटकों का जमावड़ा लगा हुआ है। अन्य राज्यों से आने वाली पर्यटन निगम की बसें और परिवहन निगम की बसों में भी भीड़ देखी जा रही है। पर्यटक निजी गाड़ियों और टैक्सियों से भी शिमला पहुंच रहे हैं। सैलानी शिमला के खुशनुमा मौसम का भरपूर लुत्फ उठा रहे हैं। राजधानी के होटलों में 80 फीसदी से अधिक ऑक्यूपेंसी चल रही है। होटलों में पहले से ही ऑनलाइन बुकिंग हो रही है। बिना बुकिंग आने वाले पर्यटकों को होटलों में कमरे नहीं मिल रहे हैं। हिमाचल प्रदेश टूरिज्म डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एचपीटीडीसी) के होटल भी फुल चले रहे हैं। एचपीटीडीसी ने सैलानियों के लिए निगम के होटलों में रहने और वॉल्वो बस में सफर करने में छूट दी हुई है। अनुमान के मुताबिक, हर रोज पांच से सात हजार के करीब पर्यटक शिमला पहुंच रहे हैं। बीते वर्ष प्रदेश भर में 209066 भारतीय पर्यटक और 5977 विदेशी सैलानी आए थे। यह आंकड़ा इस साल काफी बढ़ गया है। 225168 भारतीय और 6046 विदेशी सैलानी पहाड़ की सैर करने आए। इस वर्ष फरवरी माह तक 201126 भारतीय पर्यटक हिमाचल आए। साथ ही विदेशी पर्यटकों की तादाद में काफी इजाफा हुआ। एक अनुमान के मुताबिक इन दिनों रोजाना 20 हजार से अधिक पर्यटक शिमला आ रहे हैं। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों का कहना है कि जून में पर्यटन कारोबार अच्छा रहने की उम्मीद रहती ही है। उनका कहना है कि राजधानी के सभी होटल अस्सी से नब्बे फीसद तक फुल हो रहे हैं। हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम (एचपीटीडीसी) के होटलों में भी एडवांस बुकिंग हो रही है। कारोबार में इजाफा भी हो रहा है। पहले अप्रैल तक खराब मौसम के चलते राजधानी व साथ लगते पर्यटन स्थलों में पर्यटक पहुंच रहे थे, जिससे कारोबाद मंदा पड़ा हुआ था, लेकिन अब देरी से सही पर्यटकों की संख्या में दिनोंदिन इजाफा दर्ज किया जा रहा है, जिससे कारोबार में हुए नुकसान की भी भरपाई हो रही है। पर्यटकों की तादाद आए दिन बढ़ रही है इससे कारोबारियों को जहाँ एक ओर फायदा हो रहा है वहीं पर्यटकों को घंटों ट्रेफिक जैसी समस्या और गाड़ियों को पार्किंग की जगह ना मिलने से काफी दिकतें पेश आ रही हैं।

sh13-17

पर्यटन निगम की लिफ्ट के सामने लंबी कतारों में लगे सैलानी

कार्टरोड से मालरोड को जोड़ने वाली पर्यटन निगम की लिफ्ट के सामने लंबी कतारें देखने को मिल रही है। जिसके चलते पर्यटकों को मालरोड पहुंचने के लिए घंटो लिफ्ट का इंतजार करना पड़ रहा है। सड़कों में ट्रैफिक दबाव बढ़ने से स्थानीय लोगों को ट्रैफिक जाम की समस्या से जूझना पड़ रहा है। सड़कों के किनारे अवैध पार्किंग के कारण वाहनों की लंबी कतारें लग रही हैं। लोगों को सबसे अधिक तारादेवी, चक्कर, बालूगंज, विक्ट्री टनल, लक्कड़ बाजार, संजौली व कुफरी में ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ रहा है। पुलिस के दावों के बाद भी लोगों को जाम की समस्या से निजात नहीं मिल रही है। पर्यटकों के साथ-साथ स्थानीय लोगों को भी आय दिन ट्रैफिक की समस्या से परेशान होना पड़ रहा है।

 

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *