ताज़ा समाचार

प्राकृतिक आपदाओं एवं बर्फबारी के कारण शिमला जिला को करीब 5,217.74 लाख रुपये का नुकसान

प्राकृतिक आपदाओं एवं बर्फबारी के कारण शिमला जिला को करीब 5,217.74 लाख रुपये का नुकसान

रीना ठाकुर/शिमला: शीत ऋतु में प्राकृतिक आपदाओं एवं बर्फबारी के कारण शिमला जिला में हुए नुकसान का आज केंद्र के तीन सदस्य दल ने जायजा लिया। इस दल में केंद्र सरकार में निदेशक कृषि डॉ. एमएन सिंह, निदेशक व्यय डॉ.एससी मीणा तथा केंद्रीय ग्रामीण विकास विभाग में उप सचिव एसएस मोदी सम्मिलित थे। यह जानकारी आज यहां उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने दी। अमित कश्यप ने कहा कि केंद्र के तीन सदस्य दल ने आज सर्दियों के मौसम में हुए नुकसान के संबंध में शिमला जिला के खड़ापत्थर में विभिन्न अधिकारियों के साथ बैठक कर वस्तुस्थिति का जायजा लिया एवं नुकसान का आकलन किया। उन्होंने कहा कि दल ने जिला के विभिन्न अधिकारियों के साथ नुकसान प्रभावित क्षेत्रों का दौरा भी किया।

उपायुक्त ने कहा कि शिमला जिला में कृषि, बागवानी, लोक निर्माण, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग तथा प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड लिमिटेड सहित अन्य विभागों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। उन्होंने कहा कि शिमला जिला में कुल 5,217.74 लाख रुपये का नुकसान हुआ है।

उन्होंने कहा कि जिला में 47 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में से 44 हजार हैक्टेयर क्षेत्र बागवानी के अधीन है। उन्होंने कहा कि बागवानी क्षेत्र का 33 प्रतिशत से अधिक अर्थात लगभग 7,267 हैक्टेयर क्षेत्र प्रभावित हुआ है। इससे बागवानी क्षेत्र में 49.96 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

अमित कश्यप ने कहा कि भारी बर्फबारी से मार्च 2019 तक जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में 236 सम्पर्क मार्ग प्रभावित हुए हैं। इससे लगभग 1490 लाख रुपये का नुकसान हुआ है। जिला में बर्फबारी से 65 आवासों तथा पशुशालाओं को भी नुकसान हुआ है। 63 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में 19.42 करोड़ रुपये का नुकसान आंका गया है। ग्रामीण विकास विभाग को 1490 लाख रुपये का नुकसान हुआ है।

उन्होंने कहा कि सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को 539 लाख तथा विद्युत अधोसंरचना के क्षतिग्रस्त होने से 1347 लाख रुपये का नुकसान हुआ है।

रोहड़ू क्षेत्र में जलापूर्ति की 1008 योजनाओं में से 657 प्रभावित हुई हैं। इन्हें पुनः आरंभ करने के लिए 18.93 करोड़ रुपये की आवश्यकता है। शिमला वृत में ट्रांसफार्मर तथा बिजली के खम्बे क्षतिग्रस्त होने से लगभग 2.2 करोड़ रुपये का नुकसान आंका गया है। नगर निगम शिमला की परिधि में बर्फबारी से 250 लाख रुपये का नुकसान आंका गया है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *