ताज़ा समाचार

मोदी के पास एक लंबी घोषणाओं की लिस्ट, माहौल के हिसाब से बोल देते हैं लेकिन करते कुछ नहीं : राहुल गांधी

मोदी के पास एक लंबी घोषणाओं की लिस्ट, माहौल के हिसाब से बोल देते हैं लेकिन करते कुछ नहीं : राहुल गांधी

  • कांग्रेस ने प्रचार के अंतिम दिन सोलन में झोंकी अपनी ताकत
  • प्रदेश कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेताओं ने भाजपा पर बोला जबर्दस्त हमला
  • राहुल गाँधी ने सोलन पहुंचकर पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- हिंदुस्तान के पीएम को समझ ही नहीं है

सोलन : लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में कांग्रेस ने प्रचार के अंतिम दिन अपनी ताकत झोंकी। आज (शुक्रवार) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हिमाचल के सोलन में चुनावी सभा को सम्बोधित करने पहुंचे, तो वहीं प्रदेश कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेताओं ने भाजपा पर जबर्दस्त हमला बोला। राहुल गांधी ने कहा मोदी ने रातों-रात नोटबंदी की। देश को भारी नुकसान हुआ, लेकिन अम्बानी को अकेले फायदा हुआ। मोदी के पास एक लंबी घोषणाओं की लिस्ट होती है। माहौल के हिसाब से बोल देते हैं लेकिन करते कुछ नहीं। मोदी ने हिमाचल के लोगों से सेब पर आयात शुल्क बढ़ाने के वायदे किए थे, लेकिन हिमाचल में आकर सब कुछ वो बोलते हैं, जो जनता से वायदे किये हैं उनके बारे में नहीं।

राहुल गांधी बोले वीरभद्र सिंह जहां 6 बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं और उम्र दराज नेता होने के बावजूद भी आज सीखने की और गलतियां सुधारने की बात कहते हैं। वहीं इसके विपरीत वीरभद्र सिंह जैसे वरिष्ठतम नेता जानते हैं और उनके अंदर यह भाव है कि गलतियों से सीखना चाहिए, यह कांग्रेस के सभी लोग जानते है। लेकिन मोदी में यह भाव ही नहीं है। पूरा देश कह रहा है नोटबंदी करके गलती हुई है लेकिन वो इस बात को मानने को तैयार ही नहीं हैं।

पुलवामा हमले के बारे में राहुल गाँधी ने कहा कि पुलवामा अटैक के समय मैंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सरकार के साथ खड़ा रहने की बात की। सीआरपीएफ की घटना पर कांग्रेस का सौ फीसदी समर्थन है। इस पर सरकार के साथ मज़बूती से खड़े हैं। किसी तरह का कोई सवाल नहीं उठाया। लेकिन जब ताज होटल में आतंकवादी हिंदुस्तान में अटैक कर रहे थे। तब नरेंद्र मोदी माइक लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार को घेरने में लगे थे। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से पहले मोदी ने कैबिनेट को ताले से बंद कर दिया था। अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, आडवाणी जी के पास एक्सपीरियंस है। परन्तु जिनको समझ है, मोदी उनकी नहीं सुनते। बस अपनी दुनिया में हैं। आडवाणी जी तो मोदी के गुरु हैं, बावजूद उसके गले मिलना तो छोड़ो आडवाणी जी को तो देखते तक नहीं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मैं हर दो दिन में प्रेस वालों से मिलता हूं। कहता हूं कि जो पूछना है पूछें। मुझसे कहते हैं न्याय के बारे में बताइए। किसानों के बारे में बताइए। वहीं मोदी जी से पूछा जाता है कि वे आम कैसे खाते हैं। बादलों के बारे में बताइए। राहुल गाँधी ने मोदी द्वारा इंटरव्यू में सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर दी जानकारी पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने एयरफोर्स के अफसरों से कहा कि घबराओ मत, बादलों से हमें फायदा मिलेगा। रडार विमान को बादलों में नहीं देख पाएगा। मोदी एयर स्ट्राइक के समय वायु सेना के विशेषज्ञों को ज्ञान देते हैं। उन्होंने पूछा कि क्या जब बादल आते हैं तो जेट, इंडिगो के हवाई जहाज गायब हो जाते हैं? राहुल ने कहा कि सच यह है कि हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री को समझ ही नहीं है।

राहुल गाँधी ने कहा मेनीफेस्टो में कांग्रेस ने साफ लिखा है कि कांग्रेस सत्ता में आने के बाद कर्ज नहीं लौटाने वाले किसानों को जेल नही जाना पड़ेगा। 2019 के चुनाव के बाद कोई भी युवा कोई कारोबार करना चाहता है तो उसे कोई परमिशन नहीं लेनी पड़ेगी। देश की महिला शक्ति को संबोधित करते हुए कहा कि न्याय योजना का पैसा महिलाओं के खातों में जायेगा। महिलाओं को मजबूत किया जाएगा। मोदी सरकार ने 55 हजार करोड़ कर्ज़ माफ किए, लेकिन किसान बागवानों के कर्ज़ क्यों माफ नहीं?

राहुल गाँधी ने हिमाचल के किसान बागवानों से पूछा आपका कितना कर्ज़ माफ हुआ। मोदी मेड-इन-इंडिया की बात करते हैं लेकिन हिमाचल के सेब क्या मेड-इन चाइना हैं? कांग्रेस 25 करोड़ किसान बागवानों के खातों में डालना चाहती है। मोदी इसका विरोध क्यों करते है। राहुल ने कहा कि 5 करोड़ परिवारों को 72 हजार देने का वायदा कांग्रेस ने किया है और इसे पूरा करेंगे। मोदी ने करोड़ो लोगों के हाथों, घरों से पैसा छीना है। जब न्याय योजना का पैसा किसानों के खातों में जायेगा। उससे मार्किट में पैसा आएगा जो देश की ठप्प पड़ी आर्थिकी को गति देगा। देश में आज 22 लाख नौकरियों की ज़रूरत है जो वो भी हम करके देंगे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *