आज नेता शब्द सम्मान सूचक नहीं रहा, बल्कि अपमान व गाली बनकर रह गया : शांता कुमार

आज नेता शब्द सम्मान सूचक नहीं रहा, बल्कि अपमान व गाली बनकर रह गया : शांता कुमार

  • भाजपा का देश में कोई विकल्प नहीं : शांता कुमार

शिमला: भाजपा के वरिष्ठ नेता शांता कुमार ने शिमला में पत्रकारवार्ता के दौरान कहा कि हिमाचल में विपक्ष की स्थिति ठीक नहीं है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरभद्र सिंह मंडी में अपने प्रत्याशी को ‘आया राम गया राम’ कह रहे हैं तो शिमला में शांडिल को पुराने पापी कहते है। उन्होंने कहा कि कई दशक चुनाव लड़ते और लड़वाते हो गए हैं इसलिए इस बार चुनाव नहीं लड़ रहा हूं। उन्होंने कहा कि हिमाचल की एक साल की जयराम ठाकुर ने प्रदेश के विकास को गति दी है। प्रदेश में नई उद्योग नीति से हिमाचल के पर्यटन को पंख लगेंगे।

75 साल की उम्र सीमा का भाजपा का निर्णय सही है। पार्टी में नई पीढ़ी आनी चाहिए सबको मौका मिलना चाहिए। चुनाव न लड़ने का निर्णय मेरा अपना है। शांता ने कहा कि देश में राजनीति का स्तर गिर रहा है। आज नेता शब्द सम्मान सूचक नहीं रहा है बल्कि अपमान व गाली बनकर रह गया है। सुभाष चंद्र बोस के साथ नेता शब्द लगा था। हिमाचल में राजनीति का स्तर गिर गया है। नेताओं को भाषा पर संयम रखना चाहिए। जब यशवंत सिंह परमार मुख्यमंत्री थे तो राजनीति का स्तर बहुत ऊंचा था उनसे मैंने बहुत कुछ सीखा।

आज चुनाव के परिदृश्य में एक तरफ भाजपा है जो पूरी साफ नजर है और दूसरी तरफ धुंधली तस्वीर है। भाजपा में प्रधानमंत्री का चेहरा पीएम मोदी है जबकि दूसरी तरफ कोई एक चेहरा नहीं है। भाजपा का देश में कोई विकल्प नहीं है। ये लोकतंत्र के लिए सही नहीं है क्योंकि सशक्त लोकतंत्र के लिए सशक्त विपक्ष का होना जरूरी है। देश में नरेन्द्र मोदी का कोई विकल्प नहीं है। भाजपा पहले से ज्यादा सीट जीत कर आएंगी। देश में काम हुए है उसी के नाम पर भाजपा वोट मांग रही है। भाजपा प्रचार में कांग्रेस से कहीं आगे बढ़ गई है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *