देश को आंख मारने वाला नहीं, दुश्मन को आंख दिखाने वाला पीएम चाहिए: जयराम ठाकुर

देश को आंख मारने वाला नहीं, दुश्मन को आंख दिखाने वाला पीएम चाहिए: जयराम ठाकुर

शिमला: प्रदेश के मुख्यमंत्री भाजपा नेता जयराम ठाकुर ने कहा कि देश को संसद में आंख मारने वाला जोकर प्रधानमंत्री नहीं बल्कि देश के दुश्मनों को आंखें दिखाने वाला दमदार प्रधानमंत्री चाहिए। पिछली लोकसभा में सिर्फ 44 सीटें जीतने वाली पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी इस बार प्रधानमंत्री बनने के हसीन सपने देख रहे हैं। जबकि वह संसद में विपक्ष के नेता का दर्जा हासिल करने लायक सीटें इस बार भी नहीं जीत पाएंगे। कांग्रेस राज के छह विनाशकारी दशकों पर नरेन्द्र मोदी सरकार के पांच सालों के विकास कार्य भारी पड़ रहे हैं।

जयराम ठाकुर ने कहा कि भारत को एक ऐसा प्रधानमंत्री चाहिए था जो देश में सब का विकास करने के लिए ईमानदारी से प्रयास करे। मोदी एक ऐसे नेता हैं जो जाति, भाषा, प्रांत, मज़हब और क्षेत्र के आधार पर लोगों को बांटने की बजाय देश की 130 करोड़ जनता को अपना मानते हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस लोगों को विभिन्न वर्गाें में बांटने की साजिश करती रही। राहुल गांधी संसद के भीतर चर्चा की बजाय आंख मारने में वक्त गुज़ार देते थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पांच सालों में एक दिन भी छुट्टी नहीं की। वह 24 घंटों में से 18 घंटें काम करते हैं, जबकि राहुल गांधी देश में भूकंप, बाढ़ या तूफान से तबाही होने पर जनता को छोड़ कर थाईलैंड और इटली छुट्टियां मनाने चले जाते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले पांच सालों में प्रधानमंत्री मोदी ने देश में विकास पर जोर देने के साथ-साथ देश के दुश्मनों को सबक सिखाने की रणनीति पर अमल किया। भारत-भूटान सीमा पर ड़ोकलाम में चीनी घुसपैठ के दौरान जब हमारी सेनाएं चीन के सामने डटी थीं उस समय राहुल गांधी दिल्ली स्थित चीनी दूतावास में गुप्त बैठकें कर रहे थे। इससे कांग्रेस की नीति और राहुल गांधी की मंशा शक के दायरे में आ जाती है।

उनका कहना था कि कश्मीर में सैन्य कार्रवाईयों में जिहादी आतंकवादियों के मारे जाने पर राहुल गांधी की पार्टी सेना की बजाय जिहादियों के मानवाधिकारों की वकालत करती है। पाकिस्तानी कब्ज़े वाले कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट में भारत के हवाई हमलों में आतंकवादी अड्डे नष्ट किए जाने पर राहुल गांधी ने भारतीय सैनिकों के पराक्रम पर न सिर्फ सवाल उठाए बल्कि पाकिस्तानी रूख का समर्थन किया। उन्होंने सवाल किया कि क्या देश को ऐसा प्रधानमंत्री चाहिए।

जयराम ठाकुर ने कहा कि एक ओर ऐसा प्रधानमंत्री है जिसने बचपन गरीबी में बिताया और देश व समाज के लिए लगातार काम करके आगे बढ़ा। उनके परिवार के सभी सदस्य आज भी मेहनत मजदूरी करके जिंदगी गुजारतें हैं। जबकि सोनिया गांधी और राहुल गांधी बिना कोई काम धंधा किए हजारों करोड़ की सम्पति के मालिक बनकर ऐश कर रहे हैं। राहुुल गांधी के जीजा गरीब किसानों की जमीने हड़पने का विश्व रिकाॅर्ड बना चुके हैं और जमानत पर छूटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि देश की जनता बहुत समझदार है और पिछले पांच सालों में प्रधानमंत्री मोदी के ईमानदार प्रयासों से आए बदलाव अनुभव कर रही है। इसलिए राहुल गांधी का प्रधानमंत्री बनने का सपना 23 मई को टूट जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *