शिमला: मतगणना के लिए धामी तक कर्मचारियों की सुविधा के लिए विशेष बस सेवा

लोकसभा चुनावों में दिव्यांग मतदाताओं के लिए रहेगी विशेष व्यवस्था

  • करीब 34500 दिव्यांगों के लिए 10 मतदान केंद्र
  • सहायक मतदान केंद्र, सुंदरनगर में बनेड़-1 में 100 प्रतिशत अक्षम मतदाता पंजीकृत

शिमला: हिमाचल में वर्तमान में लगभग 34500 दिव्यांग मतदाता पंजीकृत हैं और इस बार लोकसभा चुनावों में उनकी सुविधा एवं सुगम मतदान अनुभव सुनिश्चित करने के लिए 10 विशेष मतदान केन्द्र स्थापित कर विशेष व्यवस्था की गई है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी देवेश कुमार ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि भारत निर्वाचन आयोग की पहल पर प्रदेश में विशेष मतदाताओं के लिए निकटतम मतदान केन्द्र आबंटित किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि विशेष मतदान केंद्रों का संचालन दिव्यांगों द्वारा किया जाएगा। मंडी जिला के सुन्दरनगर विधानसभा क्षेत्र का बनेड़-1 एक ऐसा मतदान केन्द्र है, जहां दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 100 प्रतिशत है।

कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में इस प्रकार के दो मतदान केंद्र होंगे, जिनमें एक चौगान-1 चंबा विधानसभा क्षेत्र में और दूसरा धर्मशाला के दाड़ी में होगा।

मंडी में ऐसे मतदान केंद्र सुंदरनगर के बनेड़ तथा बल्ह के भंगरोटु में स्थापित किए जाएंगे।

हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में हमीरपुर, ऊना और बिलासपुर के बैहरन में ऐसे मतदान केंद्र होंगे।

इसी प्रकार, शिमला संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में ऐसे तीन मतदान केंद्र होंगे, जिनमें पहला सोलन में वार्ड नंबर-5, दूसरा पांवटा साहिब के देवी नगर में और तीसरा शिमला के कसुम्पटी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत चम्याणा वार्ड में होगा।

उन्होंने बताया कि दृष्टिवाधित मतदाताओं के लिए, ब्रेल वोटिंग प्रणाली शुरू की गई है। उम्मीदवारों के नाम और चुनाव चिन्हों के साथ ब्रेल बैलट पेपर बूथों पर उपलब्ध होंगे और मतदाताओं को मतदान केन्द्र में प्रवेश करने से पहले उम्मीदवारों के चुनाव चिन्ह और क्रम संख्याओं को पढ़ने की अनुमति होगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *