ताज़ा समाचार

जलविद्युत क्षेत्र के सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों ने ''भारत के वीर'' कोष में दिया 4.22 करोड़ रुपए का अंशदान

जलविद्युत क्षेत्र के सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों ने ”भारत के वीर” कोष में दिया 4.22 करोड़ रुपए का अंशदान

  • भारत के वीर निधि कोष” में एसजेवीएन के कर्मचारियों ने किया एक दिन का वेतन दान
  • कोष का मुख्‍य उद्देश्‍य सैनिकों के परिवारों की सहायता में सहयोग देना : एसजेवीएन सीएमडी नन्‍द लाल शर्मा

शिमला: जलविद्युत क्षेत्र के सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (एसजेवीएन, एनएचपीसी, बीबीएमबी, टीएचडीसी एवं एनएचडीसी) की ओर से केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बलों के उन परिजनों, जिन्‍होंने कर्तव्‍य की खाति‍र अपने प्राण न्‍यौछावर कर दिए है, की सहायता के लिए स्‍थापित ”भारत के वीर निधि कोष” में भारत सरकार के विद्युत सचिव अजय कुमार भल्‍ला ने भारत सरकार के गृह सचिव अजय गाबा को 4.22 करोड़ रुपए राशि का एक चेक भेंट किया।  उन्‍होंने यह चेक एसजेवीएन के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्‍द लाल शर्मा तथा बीबीएमबी के चेयरमैन, डी.के.शर्मा की उपस्थिति में भेंट किया।

एसजेवीएन के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्‍द लाल शर्मा ने बताया कि एसजेवीएन के कर्मचारियों ने इस महान उद्देश्‍य की खातिर अपने एक दिन के वेतन का दान किया है।   इस कोष की स्‍थापना अर्धसैनिक बलों के उन कार्मिकों के परिवारों की सहायता के लिए की गई है जिन्‍होंने उग्रवादियों से लड़ते हुए अपने प्राण न्‍यौछावर कर दिए है।  इस कोष का मुख्‍य उद्देश्‍य जनता द्वारा सैनिकों के परिवारों की सहायता कर सकने में अपना सहयोग देना है ।   इस कोष से सशस्‍त्र बलों नामतः सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), केन्‍द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), केन्‍द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), भारत तिब्‍बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी), आसाम रायफल्‍स (एआर), राष्‍ट्रीय आपदा सहायता बल (एनडीआरएफ-भारत), राष्‍ट्रीय सुरक्षा गार्ड्स (एनएसजी) तथा सशस्‍त्र सीमा बल (एसएसबी) के बहादुर जवानों के परिवारों को लाभ पहुंचेगा ।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *