कांग्रेस के पास न तो नेतृत्व है और न ही राष्ट्रीय विकास के लिए दूरदृष्टि : जयराम

कांग्रेस के पास न तो नेतृत्व है और न ही राष्ट्रीय विकास के लिए दूरदृष्टि : जयराम

शिमला: भारतीय जनता पार्टी का वरिष्ठ नेता एवं हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि भाजपा से भयभीत होकर देश भर में कांग्रेस पार्टी में भगदड़ है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से डर कर केरल की वायनाड सीट पर मुस्लिम लीग की शरण में चले गए हैं। हिमाचल में चारों सीटों पर कांग्रेस टिकट पर कोई चुनाव नहीं लड़ना चाहता। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर के चुनावी दौरे के दौरान उन्होंने खुद अनुभव किया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं में चुनावों को लेकर हताशा का माहौल है। जयराम ठाकुर ने कहा कि देश में चल रही मोदी लहर का नतीजा है कांग्रेस का सेनापति ही मैदान छोड़ गया है। राहुल गांधी केरल की मुस्लिम बहुल वायनाड सीट को सुरक्षित मान कर कट्टरपंथी पार्टी मुस्लिम लीग कि मदद से चुनाव लड़ेंगे। वहां 56 प्रतिशत् आबादी मुसलमान है। भारत विभाजन की जिम्मेवार मुस्लिम लीग के साथ एक बार फिर कांग्रेस ने सांठ-गांठ करके अपना सांप्रदायिक चेहरा बेनकाब कर दिया है। जयराम ठाकुर ने याद दिलाया कि केन्द्र की कांग्रेस सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर कहा था कि श्रीराम कोई भगवान नहीं बल्कि एक काल्पनिक पात्र है। कांग्रेस अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि मंदिर निर्माण की भी सख्त विरोधी रही है। अब उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष अमेठी में अपनी हार निश्चित देखकर केरल से चुनाव लड़ेंगे ताकि उन्हें मुस्लिम लीग मदद कर सके।

भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस के पास न तो नेतृत्व है और न ही राष्ट्रीय विकास के लिए दूरदृष्टि। अब चुनाव में भ्रष्ट कांग्रेस का परिवारवाद बनाम भाजपा का विकास वाला राष्ट्रवाद मुद्दा है। पिछले पांच वर्षों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश ने सभी क्षेत्रों अभूतपूर्व तरक्की की। देश द्रोहियों पर नकेल कसी गयी और कश्मीर में सैंकडों आतंकवादी ढेर किए गए। यही नहीं, पाकिस्तान और उसके कब्जे वाले कश्मीर में घुसकर भारतीय सेना ने इस्लामी आतंवादियों के अड्डे नष्ट किये गये। मोदी सरकार की दृढ़ इच्छा शक्ति का नतीजा है कि भारत दुनिया में उपग्रह मार गिराने की ताकत वाला चौथा देश बन सका। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा सरकार के विकास कार्यों और मोदी लहर का नतीजा है कि कांग्रेस में चुनाव न लड़ने को लेकर होड़ चल रही है। हार को निश्चित मान कर कोई भी कांग्रेस टिकट पर चुनाव नहीं लड़ना चाहता। कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर से लेकर हिमाचल तक में मचे घमासान से भाजपा की जीत और आसान हो गयी है। उनका कहना है कि कांग्रेस में बड़े नेताओं को डरा हुआ देखकर बूथ-स्तर तक के कार्यकर्ता हताशा मे है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *