यदि नेपाल की जलविद्युत क्षमता को विकसित किया जाए तो प्रति व्यक्ति आय में होगी कई गुणा वृद्धि : नंद लाल शर्मा

यदि नेपाल की जलविद्युत क्षमता को विकसित किया जाए तो प्रति व्यक्ति आय में होगी कई गुणा वृद्धि : नंद लाल शर्मा

  • कहा ; एसजेवीएन नेपाल में जलविद्युत दोहन क्षमता को विकसित करने में उत्सुक
  • हाइड्रो पावर को एकीकृत नदी बेसिन के रूप में किया जाना चाहिए विकसित
  • विभिन्न सरकारों के उच्च-स्तरीय प्रतिनिधियों को एक साथ लाया है नेपाल निवेश शिखर सम्मेलन-2019

शिमला: एक होनहार निवेश गंतव्य के रूप में नेपाल के खड़े होने और हाल के उत्साहजनक विकास पर निर्माण करने के प्रयास में नेपाल सरकार काठमांडू में  ‘नेपाल निवेश शिखर सम्मेलन-2019 ‘ का आयोजन कर रही है। नेपाल में इनवेस्टिंग शीर्षक सत्र में अनुभव साझा करते हुए एसजेवीएन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा ने कहा कि यदि नेपाल की आधी जलविद्युत क्षमता को भी विकसित किया जाए तो नेपाल की प्रति व्यक्ति आय कई गुणा बढ़ सकती है। उन्होंने आगे कहा कि एसजेवीएन नेपाल में जलविद्युत दोहन क्षमता को विकसित करने में बहुत उत्सुक है और नेपाल के आर्थिक विकास में सक्रिय रूप से भाग लेना चाहता है।

नंद लाल शर्मा ने इस बात पर जोर दिया कि हाइड्रो पावर को एकीकृत नदी बेसिन के रूप में विकसित किया जाना चाहिए ताकि ढांचागत विकास को बढ़ावा दिया जा सके। उन्होंने कहा कि ढांचागत विकास देश के समग्र सामाजिक-आर्थिक विकास के साथ-साथ पनबिजली परियोजनाओं को समय पर पूरा करना सुनिश्चित करेगा। नेपाल में निवेश के बारे में अपने अनुभवों को सांझा करते हुए शर्मा ने बताया कि एसजेवीएन 900 मेगावाट अरुण-3 हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट में नेपाली रू.11000 करोड़ ( भारतीय रू. 7000 करोड़) के आसपास निवेश किया जाएगा, जो 2008 में अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धात्मक बोली के माध्यम से एसजेवीएन को आबं‍टित किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि एसजेवीएन ने अब तक नेपाली रू. 800 करोड़ के आसपास निवेश किया है और इस परियोजना के निर्माण गतिविधियों से लगभग 3500 व्यक्तियों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने परियोजना निर्माण संबंधी गतिविधियों के लिए सक्रिय सहयोग के लिए नेपाल सरकार और संबंधित विभागों को धन्यवाद दिया।

नेपाल निवेश शिखर सम्मेलन-2019 में प्रमुख राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय वक्ताओं, गणमान्य व्यक्तियों, नीति-निर्माताओं के साथ-साथ कार्यक्षेत्र-विशिष्ट विशेषज्ञों और अधिक महत्वपूर्ण बात, विभिन्न सरकारों के उच्च-स्तरीय प्रतिनिधियों को एक साथ लाया है। शिखर सम्मेलन का उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में नेपाल में निवेश के लिए रुचि पैदा करना और संभावित विदेशी निवेशकों के बीच सकारात्मक गति पैदा करना है। यह शिखर सम्मेलन नेपाल सरकार की एक प्रमुख निवेश प्रोत्साहन पहल है, जिसमें एसजेवीएन भी सक्रिय रूप से भाग ले रहा है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *