सांस्कृतिक विरासत की निरंतरता में मेले व त्यौहारों का अह्म योगदान: स्टोक्स

सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, बागवानी, सूचना व प्रोद्यौगिकी मंत्री विद्या स्टोक्स

सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, बागवानी, सूचना व प्रोद्यौगिकी मंत्री विद्या स्टोक्स

शिमला : सांस्कृतिक विरासत की निरंतरता को कायम रखने के लिए मेले व त्यौहारों का अह्म योगदान है। सिंचाई जन स्वास्थ्य, बागवानी एवं सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्री विद्या स्टोक्स ने ठियोग उप-मण्डल की ग्राम पंचायत सिरउण के हलाई गांव में आयोजित तीन दिवसीय बीशू मेले के दूसरे दिन के कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अपने सम्बोधन में यह बात कही।

उन्होंने कहा कि संचार साधनों की आपाधापी के बावजूद भी विभिन्न मेलों, त्यौहारों व धार्मिक अनुष्ठानों के माध्यम से हम अपनी परम्परा और लोक कला को सहज कर रख पाते हैं। उन्होंने कहा कि ठियोग क्षेत्र के विकास के लिए हर सम्भव मद्द प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि ठियोग में 200 बिस्तरों के अस्पताल के बनने से इस क्षेत्र के लोगों को अत्यधिक लाभ होगा। बासा महाओग क्षेत्र के लोगों की वहां सब्जी एकत्रीकरण केन्द्र खोलने की मांग पर उन्होंने इसे जल्द पूरा करने का आश्वासन दिया।

उन्होंने हलाई-मझोली उठाउ पेयजल योजना की पुरानी पाईपों को बदलने का प्रस्ताव तैयार कर धन की उपलब्धता का आदेश विभाग को दिया। उन्होंने बताया कि सरीउण पंचायत की पुरानी पाईपे बदलने का कार्य आरम्भ कर दिया। उन्होंने कहा कि हलाई से मझोली सम्पर्क सड़क का कार्य शीघ्र ही आरम्भ कर दिया जाएगा। उन्होंने सन्धु बासा महाओग सड़क को पक्का करने के लिए 10 लाख रूपये की राशि व हलाई मैदान के सौन्दर्यकरण के लिए 10 लाख रूपये की राशि देने की घोषणा की। ठोडा दल खशधार व फागू को 11-11 हजार व कुमारसैन की निशा गन्धर्व के सांस्कृतिक दल को 11 हजार रूपये देने की घोषणा की।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *