शिमला: मतगणना के लिए धामी तक कर्मचारियों की सुविधा के लिए विशेष बस सेवा

प्रदेश के स्कूलों में 1616 व कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों में 227 निर्वाचन साक्षरता क्लब गठित

  • लोगों को जागरूक करेंगे निर्वाचन साक्षरता क्लब व चुनाव पाठशालाएं

शिमला:प्रदेश में स्कूली छात्रों को रोचक गतिविधियों तथा व्यावहारिक अनुभव के माध्यम से उनके चुनावी अधिकारों के प्रति जागरूक करने तथा पंजीकरण एवं मतदान की चुनावी प्रक्रिया से अवगत करवाने के लिए 7681 निर्वाचन साक्षरता क्लब गठित किए गए है। यह जानकारी आज यहां मुख्य निर्वाचन अधिकारी देवेश कुमार ने दी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के स्कूलों में 1616 तथा कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों में 227 निर्वाचन साक्षरता क्लब गठित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि निर्वाचन साक्षरता क्लब भावी वोटरों तथा पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं को मतदाता पंजीकरण तथा चुनावी प्रक्रिया के बारे शिक्षित करने में महत्वपूर्ण निभा रहे हैं। स्कूलों से एक या दो शिक्षक विशेषकर कला संकाय से, निर्वाचन साक्षरता क्लब के नोडल अधिकारी तथा परामर्शदाता के तौर पर नियुक्त करने को कहा गया है।

निर्वाचन साक्षरता क्लब विद्यार्थियों को संवैधानिक, वैधानिक एवं विधिक प्रावधान, नई तकनीकों, चुनाव प्रक्रिया में चुनाव आयोग, न्यायालयों, मीडिया तथा अन्य हितधारकों की भूमिका से अवगत करवाने में भी अह्म भूमिका निभाएंगे।

इसके अतिरिक्त मतदान केन्द्र स्तर पर 5818 ‘चुनाव पाठशालाओं’ को चिन्हित किया गया हैं। चुनाव पाठशालाओं में स्कूल छोड़ चुके विद्यार्थी तथा अन्य सामुदायिक सदस्य जैसे 14-17 वर्ष के आयु वर्ग के किशोर, 18-19 आयु वर्ग के मतदाता, युवा एवं मध्यम आयु की महिलाएं, वरिष्ठ नागरिक, दिव्यांग व्यक्ति, स्कूल न जाने वाले 14 वर्ष से कम की आयु के बच्चे तथा क्षेत्र में रहने वाले प्रत्येक समुदाय के लोगों को शामिल किया जाएगा, रोचक तथा प्रेरणादायक गतिविधियों के माध्यम से उन्हें मताधिकार के बारे जागरूक किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि रैलियां, चित्रकला प्रतियोगिता, वाद-विवाद तथा वॉल राईटिंग चुनाव पाठशालाओं के पाठ्यक्रम का महत्वपूर्ण हिस्सा है। चुनाव पाठशालाओं का संचालन संयोजक द्वारा किया जाएगा, जो ‘मतदाता प्रशिक्षक’ कहलाएंगे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *