सीएम ने किया हिमाचल को उत्तरी-पूर्वी राज्यों की तर्ज पर धनराशि उपलब्ध करवाने का आग्रह

  • मुख्यमंत्री का हिमाचल को उत्तरी-पूर्वी राज्यों की तर्ज पर धनराशि उपलब्ध करवाने का आग्रह
  • दिल्ली में केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली से की भेंट

 

नई दिल्ली : मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज नई दिल्ली में केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली से भेंट कर प्रदेश से संबंधित विभिन्न मामलों विशेषकर सर्वशिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान व मिड-डे-मील योजना जैसी केंद्रीय प्रायोजित योजनाओं के लिए वित्त पोषण पद्धति पर विस्तृत चर्चा की।

उन्होंने जेटली से प्रदेश के विकास से जुड़े विभिन्न लंबित मामलों पर चर्चा की तथा उन्हें अवगत करवाया कि केंद्र सरकार विशेष श्रेणी राज्यों विशेषकर उत्तरी-पूर्वी राज्यों को केंद्रीय प्रायोजित योजनाओं में 90:10 अनुपात के आधार पर धनराशि प्रदान कर रही है। उन्होंने हिमाचल के मामले में भी इस पद्धति को अपनाने का आग्रह किया, ताकि प्रदेशवासियों की अपेक्षाओं एवं आकांक्षाओं को पूरा किया जा सके। उन्होंने केंद्रीय मंत्री को प्रदेश द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में विशेषकर लड़कियों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध करवाने में किए गए प्रशंसनीय कार्य से अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश ने स्वास्थ्य तथा शिक्षा क्षेत्र की सभी केंद्रीय प्रायोजित योजनाओं को सफलतापूर्वक कार्यान्वित करके उदाहरण प्रस्तुत किया है।

मुख्यमंत्री ने राज्य के विकास की रूप रेखा पर चर्चा करते हुए कहा कि हिमाचल में जलविद्युत व पर्यटन क्षेत्र में विकास की अपार संभावनाएं हैं, जिनके दोहन के लिए विभिन्न वित्तीय एजेंसियों की सहायता व मध्यस्थता की आवश्यकता है। केंद्रीय मंत्री ने प्रदेश सरकार द्वारा केंद्र प्रायोजित योजनाओं के सफल कार्यान्वयन तथा प्रदेश में विकास की गति को तीव्रता प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने मुख्यमंत्री को प्रदेश सरकार द्वारा उठाए गए सभी मामलों पर हर संभव सहायता उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया तथा अधिकारियों को प्रदेश से संबंधित मामलों को प्राथमिकता के आधार पर निपटारा करने के निर्देश दिए, ताकि प्रदेश में विकास की गति धन की कमी के कारण अवरूद्ध न हो।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *