सभी वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में होंगे उप प्रधानाचार्य के पद सृजित: मुख्यमंत्री

सभी वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में होंगे उप प्रधानाचार्य के पद सृजित: मुख्यमंत्री

  • कुटलेहड़ क्षेत्र में खोला जाएगा अटल आदर्श आवासीय विद्यालय

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में तैनात पीजीटी के नामावली प्रवक्ता (लैक्चरर) के रूप में बदली जाएगी और इस संदर्भ में अधिसूचना शीघ्र ही जारी की जाएगी इसके अतिरिक्त राज्य में सभी वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में उप प्रधानाचार्य के पद सृजित किए जाएंगे। यह घोषणा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज ऊना ज़िले गोंदपुर बनहेड़ा में हिमाचल प्रदेश शिक्षक संघ के चतुर्थ क्षेत्रीय सेमिनार को सम्बोधित करते हुए की।

मुख्यमंत्री ने गुणात्मक शिक्षा पर बल देते हुए कहा कि मूल्यों के बिना शिक्षा समाज के लिए विनाशकारी है। उन्होंने कहा कि सुदृढ़ समाज के लिए छात्रों में उच्च नैतिक मूल्यों को विकसित करना शिक्षकों का कर्तव्य है। शिक्षकों को हमारी संस्कृति और परम्परा के बारे में छात्रों को शिक्षित करना चाहिए ताकि वह अपनी समृद्ध संस्कृति और इतिहास पर गर्व कर सकें।

जय राम ठाकुर ने कहा कि एक छोटा राज्य होने के बावजूद भी हिमाचल प्रदेश को देश के बड़े राज्यों की श्रेणी में शिक्षा क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ राज्य के रूप में चुना गया है, जिसका श्रेय राज्य सरकार की बेहतर नीतियों के अलावा शिक्षकों को भी जाता है। उन्होंने कहा कि एक समय में हमारे देश को विश्व गुरु के रूप में जाना जाता था और यहां की गुरु-शिष्य की परम्परा को सभी सराहते थे। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह परम्परा धीरे-धीरे लुप्त हो रही है। उन्होंने शिक्षकों से एक बार फिर सामूहिक रूप से कार्य करने का आग्रह किया ताकि इस खोए हुए गौरव को वापस पाया जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि परीक्षाओं के दौरान छात्रों में नकल की बढ़ती प्रवृत्ति की जांच के लिए शिक्षकों को भी आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को छात्रों को नैतिक मूल्यों के बारे में जागरूक करना चाहिए ताकि वे खुद ही नकल न करें। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को अपने आचरण और चरित्र से एक उदाहरण स्थापित करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक मजबूत और प्रगतिशील राष्ट्र के निर्माण में शिक्षकों की भूमिका महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि नशीली दवाओं के बढ़ते दुरुपयोग की जांच के लिए शिक्षकों को भी आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को छात्रों की बदलती आदतों और व्यवहार पर नजर रखनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने हाल ही में अपने कार्यकाल का एक वर्ष पूरा किया है और यह एक वर्ष कई प्रमुख पहलों और कई विकास प्रयासों से भरा हुआ है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का पहला निर्णय वृद्धजनों के कल्याण पर केन्द्रित था और सरकार ने बिना आय सीमा के वृद्धावस्था पेंशन की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया है। प्रदेश के लोगों के लिए जन मंच उनकी शिकायतों के निवारण के लिए वरदान साबित हुआ है। राज्य में आयोजित दस जन मंच में 22,000 शिकायतों का निवारण किया गया है। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने भी राज्य सरकार की इस पहल की सराहना की है।

मुख्यमंत्री ने कुटलेहड़ क्षेत्र के गेहरा प्लाटा में अटल आदर्श आवासीय विद्यालय खोलने की घोषणा की।

जय राम ठाकुर ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मुबारकपुर, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बेधरा, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला घनयान और खण्ड अधिकारी कार्यालय के निर्माण के लिए 20 लाख रुपये, 15 लाख रुपये, 10 लाख रुपये और 15 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गोंदपुर बनहेड़ा में मैदान के निर्माण के लिए 10 रुपये की घोषणा की।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *