सड़क, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सेवाओं का सुधार गाँव के विकास के मापदंड : प्रो. धूमल

सड़क, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सेवाओं का सुधार गाँव के विकास के मापदंड : प्रो. धूमल

  • पूर्व मुख्यमंत्री ने भोरंज के साईं विजन पब्लिक स्कूल के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह में होनहारों को बांटे पुरस्कार

अंकुश दत्त/ भोरंज:  हमने सड़क, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सेवाओं के सुधार को गाँव के विकास का मापदंड मान काम किया है। गाँव में जब सुविधाओं की कमी होती है तभी गाँव के लोग पलायन करते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री प्रो० प्रेम कुमार धूमल ने भोरंज विधानसभा के भरेड़ी कस्बे में साईं विजन पब्लिक स्कूल के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह में बतौर मुख्यतिथि अपने सम्बोधन में यह बात कही।  उन्होंने कहा कि शहर की चकाचौंध हमें जितना मर्जी आकर्षित कर ले, लेकिन हमारी पहचान हमारे गाँव ही हैं। जिस गाँव में सड़क पहुँच जाती है वहां विकास पहुँच जाता है। अधिकतर शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं के अभाव में गाँव से पलायन लोग करते हैं। हमने प्रयास किया है कि जितना हो सके गाँव-गाँव में यह सुविधाएँ उपलब्ध हों।

प्रो. धूमल ने कहा कि साईं विजन पब्लिक स्कूल के प्रबन्धन और अध्यापकों को बधाई देते हुए कहा कि अच्छी शिक्षा उपलब्ध करवाने में स्कूल अच्छा काम कर रहा है। जो लोग अच्छा काम करते हैं, आगे बढ़ते हैं उनकी तुलना भी होती है आलोचना भी।  इसलिए तुलना, आलोचना और निंदा से घबराना नहीं चाहिए। निंदक नजदीक होगा तो कमियां बताता रहेगा, आप कमियां दूर करते रहोगे और आगे बढ़ते रहोगे।

प्रो. धूमल ने बच्चों को प्रेरणा देते हुए कहा कि पहली डिवीजन में परीक्षा उत्तीर्ण करने का दौर पुराने समय में था अब तो टोटल पर्फेक्शन का दौर है जहां शत प्रतिशत अंकों से बच्चे परीक्षा पास कर रहे हैं| हाल ही में एक छात्र ने 500 में से 500 अंक परीक्षा प्राप्त किये हैं। प्रतिस्पर्धा बढ़ गयी है। कहीं कोई कमी न रखने का समय अब आने वाला है। जो हर तरह से फिट होगा वही आगे बढ़ेगा। केवल पास मार्क या फिर अब तो नब्बे प्रतिशत वाले का भी काम नहीं है। इसलिए प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार होना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि आज सारे संसदीय क्षेत्र में कहल महाकुम्भ और सांसद मोबाइल स्वास्थ्य सेवा की चर्चा है। स्कूल के बच्चों ने खेल महाकुम्भ में भी भाग लिया है और सांसद मोबाइल स्वास्थ्य सेवा से सभी बच्चों का स्वास्थ्य भी जांचा गया है। उन्होंने बच्चों का आह्वान करते हुए कहा कि अगली बार जब स्कूल का वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह हो तब सांसद भारत दर्शन योजना में स्कूल के छात्रों का भारत भ्रमण पर जाने का जिक्र भी ज़रूर हो। राज्यपाल महोदय ने भी भोटा में सांसद द्वारा चलाई जा रही तीनों योजनाओं की तारीफ़ की है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *