हिमाचल: कई क्षेत्रों में फिर बारिश-बर्फबारी की संभावना

हिमाचल: 12 जनवरी तक रह सकता है पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय

  • हिमाचल: मध्य व उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी के आसार

शिमला: राजधानी शिमला में रविवार को बर्फ का खूबसूरत नजारा देखने को मिला। हिमाचल की चोटियों में तीन दिन से जारी बर्फबारी के बीच आज शिमला में बर्फबारी का का लोगों ने जमकर लुत्फ़ उठाया । ऐतिहासिक रिज और माल रोड पर साल की पहली बर्फबारी का सैलानियों और स्थानीय लोगों ने खूब आनन्द लिया। शिमला के जाखू कुफरी-नारंकडा, रामपुर, ठियोग खड़ा पत्थर, कोटखाई, रोहड़ू, चौपाल व डोडरा क्वार में बर्फबारी हुई है। मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों तक मध्य और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी के आसार जताए हैं। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह के अनुसार 12 जनवरी तक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय रहेगा। हालांकि, मैदानी इलाकों में सोमवार, बुधवार और शनिवार को मौसम शुष्क बना रहेगा।

 

हिमाचल: मध्य व उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी के आसार

हिमाचल: मध्य व उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी के आसार

प्रदेश के आठ जिलों की चोटियां लकदक जबकि मैदानी इलाकों में बारिश हुई है। राजधानी का अपर शिमला और किन्नौर से संपर्क कट गया है। मंडी के शिकारी देवी, सिरमौर के चूड़धार, चंबा के मणिमहेश में तीन फीट, लाहौल घाटी में दो और किन्नौर में एक फीट से ज्यादा हिमपात हुआ है। धौलाधार की चोटी लकदक हो गई है। मैक्लोडगंज, नड्डी, भागसू और सतोवरी में भी बर्फ गिरी है।  मनाली, डलहौजी और मैकलोडगंज में भी बर्फबारी हुई है।शिमला-ठियोग-रामपुर एनएच-5, ठियोग-हाटकोटी-रोहड़ू स्टेट हाईवे, मनाली-लेह, कुल्लू-आनी एनच और चंबा-भरमौर नेशनल हाईवे पर यातायात बंद हो गया है। मंडी की सराजघाटी, कांगड़ा का बड़ा भंगाल, लाहौल, किन्नौर और सिरमौर के कई ऊपरी इलाके देश-दुनिया से कट गए हैं। पेयजल योजनाएं जाम हो गई हैं। कुल्लू जिले में कुल्लू-मनाली वामतट मार्ग के अलावा 50 से अधिक बस रूट प्रभावित हो गए हैं। मनाली, डलहौजी और मैकलोडगंज में भी बर्फबारी हुई है। चंबा और मंडी में करीब दो दर्जन संपर्क सड़कें बंद हो गई है। जिला प्रशासन ने कमरूनाग और शिकारी देवी जाने पर रोक लगा दी है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *