सीएम ने शिमला शहर के लिए रखी 69 करोड़ की जलापूर्ति योजना की आधारशिला

सीएम ने शिमला शहर के लिए रखी 69 करोड़ की जलापूर्ति योजना की आधारशिला

  • सुन्नी में खण्ड चिकित्सा अधिकारी कार्यालय की घोषणा
  • एसडीएम ग्रामीण सप्ताह में दो दिन सुन्नी बैठेंगे

शिमला : मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज सुन्नी क्षेत्र के चाबा में शिमला शहर के लिए शिमला उठाऊ जलापूर्ति योजना के संवर्धन की आधारशिला रखी। यह जलापूर्ति योजना 69 करोड़ रुपये की लागत से पूरी होगी और शिमला शहर के लिए प्रतिदिन 10 मिलियन लीटर अतिरिक्त जल प्रदान करेगी। इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना शिमला शहर के लोगों को 24 घण्टे जलापूर्ति सुनिश्चित करेगी। उन्होंने कहा कि योजना अगले वर्ष अप्रैल माह तक पूरी की जाएगी, जिससे शिमला क्षेत्र में जल की समस्या का समाधान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चालू वित्त वर्ष के दौरान प्रदेश में पेयजल योजनाओं पर 275 करोड़ रुपये की राशि खर्च कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में 90 प्रतिशत घरों को पेयजल आपूर्ति प्रदान की जा रही है, जो राष्ट्रीय औसत 43.5 प्रतिशत से कहीं अधिक है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 4751 करोड़ रुपये की जल संग्रहण परियोजना प्रस्तावित की थी, जिसकी केन्द्र सरकार ने सैद्धांतिक मंजूरी प्रदान कर दी है। यह परियोजना किसानों की आय को दोगुणा करने की दिशा में कारगर सिद्ध होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने अपने लगभग एक वर्ष के कार्यकाल में प्रदेश का चहुंमुखी व सन्तुलित विकास सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए उन्होंने राज्य के कुल 68 विधानसभा क्षेत्रों में से 62 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा कर लिया है। उन्होंने कहा कि दौरे का मुख्य उद्देश्य राज्य के प्रत्येक भाग के लोगों की विकासात्मक आवश्यकताओं तथा अपेक्षाओं के बारे में जानकारी हासिल करना तथा उनका समाधान करना है। उन्होंने कहा कि ठीक एक वर्ष पहले 18 दिसम्बर, 2017 को राज्य के लोगों ने वर्तमान सरकार के पक्ष में अपना फैसला दिया था।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार सुनिश्चित कर रही है कि बिना किसी पक्षपात व भेदभाव के राज्य के विकास के एकमात्र लक्ष्य को लेकर कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का पहला ही निर्णय वृद्धजनों के कल्याण पर लक्षित था। उन्होंने कहा कि वृद्धवस्था पेंशन के लिए बिना आय सीमा के आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया गया, जो राज्य सरकार का बुजुर्गों के प्रति सम्मान को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि सुन्नी तथा तत्तापानी क्षेत्र में जल क्रीड़ाओं की दृष्टि से काफी सम्भावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि सुन्नी-तत्तापानी-करसोग-जंजैहली-शिकारी माता को पर्यटन सर्किट की दृष्टि से विकसित करने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार इस क्षेत्र को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि सुन्नी बस अड्डे का निर्माण कार्य शीघ्र पूरा किया जाएगा। जय राम ठाकुर ने गौडु-पलघार सड़क तथा घैणी-तबोग सड़क के लिए 10-10 लाख रुपये की घोषणा की। उन्होंने क्षेत्र की विभिन्न सम्पर्क सड़कों के लिए 23 लाख रुपये की घोषणा भी की। उन्होंने सुन्नी में खण्ड चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय की घोषणा की और यह भी घोषणा की कि एसडीएम ग्रामीण सप्ताह में दो दिन सुन्नी में बैठेंगे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *