खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम के तहत विभिन्न मापदंडों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए समयबद्ध उठाए जाएं कदम

खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम के तहत विभिन्न मापदंडों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए समयबद्ध उठाए जाएं कदम

  • नगर निगम शिमला क्षेत्र में 4072 पंजीकरण व 1618 लाईसेंस जारी
  • खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम का मूल उद्देश्य खाद्य सुरक्षा को बढ़ाना व स्वच्छ भोजन की सुनिश्चितता करना

शिमला : खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम के तहत विभिन्न मापदंडों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए समयबद्ध कदम उठाए जाने चाहिए। खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम-2006 के तहत आज जिला संचालन समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता अतिरिक्त उपायुक्त शिमला देवाश्वेता बनिक ने की। बैठक में विभिन्न खाद्यान्न प्रतिष्ठानों के पंजीकरण व लाईसेंसिंग के बारे में विभिन्न पहलुओं पर विस्तृत चर्चा की गई।

उन्होंने कहा कि इस अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार सभी खाद्यान्न प्रतिष्ठानों के लिए यह अनिवार्य है कि उनका पंजीकरण किया जाए। इस अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार जिला में विभिन्न स्कूलों में कार्यरत सभी मिड-डे-मील यूनिट के लिए भी पंजीकरण करना अनिवार्य है। उन्होंने मिड डे मील यूनिटों का पंजीकरण शीघ्र करने के लिए यह मामला उप निदेशक शिक्षा विभाग के साथ उठाने के निर्देश दिये। आंगनबाड़ी में खाद्यान्न परोसने के लिए भी इस अधिनियम के तहत पंजीकरण करना अनिवार्य है। अधिनियम के तहत पंजीकरण ऑनलाईन किया जाता है।

देवाश्वेता बनिक ने इस अधिनियम के बारे में अधिक से अधिक जागरूकता लाने के लिए विभिन्न जागरूकता गतिविधियों के आयोजन के निर्देश दिये। इस अधिनियम का मूल उद्देश्य खाद्य सुरक्षा को बढ़ाना और स्वच्छ भोजन की सुनिश्चितता करना है।

उन्होंने कहा कि अधिनियम के लागू होने के उपरांत इस अधिनियम के तहत जिला शिमला में 1002 छोटे व्यापारिक प्रतिष्ठानों को लाईसेंस जारी किये गये तथा 9700 पंजीकरण किये गये हैं। नगर निगम शिमला क्षेत्र में 4072 पंजीकरण व 1618 लाईसेंस जारी किये गये हैं। इस अधिनियम की अवमानना के लिए विभिन्न लोगों के खिलाफ न्यायालय में 76 मामले विचाराधीन हैं तथा चार लाख 60 हजार रुपये जुर्माना किया गया है।

उन्होंने इस अधिनियम के प्रति और अधिक जागरूकता लाने के लिए पंचायती राज संस्थानों और स्थानीय नियकायों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न कदम उठाने के निर्देश दिये।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *