रेल मंत्री ने किया कालका-शिमला रेलवे ट्रैक का औचक निरीक्षण

रेल मंत्री ने किया कालका-शिमला रेलवे ट्रैक का औचक निरीक्षण

शिमला: कालका-शिमला विश्व धरोहर ट्रैक के निरीक्षण के लिए पंहुचे केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे के स्टेशनों पर सफाई व्यवस्था को लेकर क्लास लगाई। सोलन रेलवे स्टेशन पर सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करने के निर्देश केंद्रीय रेल मंत्री ने निरीक्षण के दौरान दिए।

रेल मंत्री अचानक कालका स्टेशन से विशेष  विस्टा डोम पारदर्शी कोच और झरोखा कोच में सफर कर सोलन रेलवे स्टेशन पर पहुंच गए। कालका से सोलन तक वह खुद ट्रेन का सफर कर सोलन तक आए । इस दौरान रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कालका शिमला वर्ल्ड हेरिटेज ट्रैक का निरीक्षण किया। गोयल ने कालका से सोलन तक स्पेशल ट्रेन एम आर मिनिस्टर स्पेशल से सोलन तक का सफर किया। वे शाम करीब साढ़े आठ बजे वह सोलन पहुंचे। विस्टा डोम पारदर्शी कोच के सफल ट्रायल के बाद खुद रेल मंत्री इसके निरीक्षण के लिए आए थे। उन्होंने कोच के डिजाइन की सराहना की ओर कहा कि यह पहला इस तरह का कोच है जो पूरी तरह से पारदर्शी है। विस्टा डोम कोच पूरी तरह से वातानुकूलित है। इसमें यात्री भीतर से बाहर की सुंदरता का आनंद ले सकता है।

कोच की छत और दीवारों को भी पारदर्शी बनाया गया है। इस स्पेशल कोच की खूबियों को रेल मंत्री ने खुद देखा. अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में इसका ट्रायल हो चुका है, जो सफल रहा था। इसके बाद शुक्रवार को रेल मंत्री ने खुद इसका निरीक्षण किया। रेल मंत्री ने सोलन रेलवे स्टेशन को कमियों को ठीक करने के निर्देश दिए।

  • मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय रेल मंत्री से शिमला-कालका रेल की गति बढ़ाने का किया आग्रह
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से भेंट के दौरान उनसे कालका-शिमला और पठानकोट-जोगिन्द्रनगर रेलवे मार्गों पर रेल की गति बढ़ाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कालका-शिमला रेलवे मार्ग पर रेल की गति 25 किलोमीटर प्रति घण्टा है, जिसे बढ़ाए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से आग्रह किया कि इन रेलवे मार्गों पर चलने वाले डिब्बों को आकर्षक बनाया जाए, जिससे इन रेलों पर आने वाले पर्यटकों को अधिक से अधिक संख्या में आकर्षित किया जा सके। जय राम ठाकुर ने केन्द्रीय मंत्री से शिमला स्थित पुराने बस अड्डे के नजदीक रेलवे भूमि पर एक व्यावसायिक परिसर कम बहुमंजिला कार पार्किंग के निर्माण का अनुरोध किया, जिससे इस भूमि का इस्तेमाल पर्यटकों की तथा अन्य लोगों के वाहन की पार्किंग के लिए प्रयोग किया जा सके। मुख्यमंत्री ने भानुपल्ली-बिलासपुर-बैरी रेल लाइन पर कार्य की गति बढ़ाने का भी आग्रह किया। 
पीयूष गोयल ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि इन दोनों रेलों की गति को शीघ्र ही 25 किलामीटर से बढ़ाकर 35 किलोमीटर प्रति घण्टा कर दिया जाएगा तथा इसे 50 किलोमीटर प्रति घण्टा करने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने यह भी आश्वस्त किया कि शिमला स्थित बस अड्डे के समीप व्यावसायिक परिसर कम बहुमंजिला कार पार्किंग के निर्माण के प्रयास किए जाएंगे। 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *