फूलों और फलों से आकृतियों का निर्माण कला का एक बेजोड़ नमूना : प्रतिभा

फूलों और फलों से आकृतियों का निर्माण कला का एक बेजोड़ नमूना : प्रतिभा

शिमला: शिमला एम्चयोर गार्डन एंड एनवायरमैंट सोसायटी द्वारा आज पुष्प व फलों पर आधारित विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन स्थानीय गेयटी थियेटर में किया गया।  कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए रैडक्रॉस सोसायटी की उपाध्यक्ष एवं पूर्व सांसद प्रतिभा सिंह ने कहा कि फूलों की रंगोली और फलों के माध्यम से विभिन्न आकृतियों का निर्माण करना वास्तव में कला का एक बेजोड़ नमूना है।उन्होंने कहा कि बच्चों ने अपनी प्रतिभा का भरपूर प्रर्दशन किया है। उन्होंने कहा कि इस संस्था के माध्यम से बच्चों के भीतर छुपी प्रतिभा को उजागर करने के लिए मंच प्रदान किया जा रहा है जोकि सराहनीय है।
प्रतिभा सिंह ने बताया कि इस प्रतियोगिता में शिमला नगर के 10 स्कूलों के 91 बच्चों ने भाग लिया। पांच प्रकार की प्रतियोगिताएं संस्था द्वारा आयोजित की गई है जिसमें पुष्प सज्जा, पुष्प रंगोली, पुष्प-गुलदस्ता सज्जा, फल व फूलों से खिलौना निर्माण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। लौरेटो पब्लिक स्कूल भराड़ी को सभी  प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट प्रर्दशन के लिए ट्रोफी प्रदान की गई।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा लोगों को फूलों की खेती के प्रति आर्कषित करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई गई हैं। विभिन्न प्रशिक्षण कार्यशालाओं के माध्यम से लोगों को फूलों की खेती के बारे में जानकारी प्रदान कर जागरूक किया जा रहा है।
संस्था की सचिव राज वत्स ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया जबकि सदस्य श्रीनिवास जोशी ने अपने उद्बोधन में संस्था के इतिहास व शिमला नगर में लोगों में पुष्प व सजावटी पौधों के प्रति अनुराग पैदा करने के लिए संस्था के योगदान पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि भविष्य में बच्चों में फूलों व पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करने के लिए संस्था द्वारा प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कल रिज मैदान में आयोजित पुष्प प्रर्दशनी का उद्घाटन विजेता स्कूल लॉरेटो पब्लिक स्कूल भराड़ी के बच्चों द्वारा किया जाएगा जोकि प्रातः 11.30 बजे आरम्भ होगी और सांय 7 बजे समाप्त होगी।
इस अवसर पर संस्था के अध्यक्ष बी.के.करकरे, उपाध्यक्ष आर.एल.जैन, पूर्व अध्यक्ष एम आर शर्मा, सदस्य शैलेन्द्र सिंह कंवर भी उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *