पांवटा साहिब : केन्द्र से 9000 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाएं स्वीकृत : मुख्यमंत्री

पांवटा साहिब : केन्द्र से 9000 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाएं स्वीकृत : मुख्यमंत्री

  • पांवटा साहिब निर्वाचन क्षेत्र में विभिन्न विकास परियोजनाएं समर्पित

पांवटा साहिब : राज्य सरकार अपने दस माह के छोटे से कार्यकाल के दौरान केन्द्र सरकार से 9000 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं को स्वीकृत करवाने में सफल रही है यह बात मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज सिरमौर जिले के पांवटा साहिब विधानसभा क्षेत्र के गोरखुवाला में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

जय राम ठाकुर ने कहा कि सिरमौर जिले के लोगों ने राज्य में भाजपा सरकार को सत्ता में लाने में अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि पिछले दस महीनों के दौरान उन क्षेत्रों के विकास पर विशेष ध्यान दिया गया है जो पिछली राज्य सरकार के कार्यकाल के दौरान उपेक्षित रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देश का सौभाग्य है कि उन्हें नरेन्द्र मोदी जैसा कुशल प्रधानमंत्री मिला है, जिनके नेतृत्व में भारत विश्व गुरू बनने की राह पर अग्रसर है। प्रधानमंत्री वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और केन्द्र सरकार 2022 तक प्रत्येक आवासहीन व्यक्ति को आवास प्रदान करेगी।

उन्होंने कहा कि कुछ समय पूर्व आसामयिक हिमपात के कारण लाहौल घाटी में फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए प्रधानमंत्री ने सात हैलीकॉप्टर प्रदान किए। उन्होंने कहा कि 252 लोगों को सुरक्षित कुल्लू पहुंचाया गया, जबकि चम्बा जिला के होली से भी लगभग 800 स्कूली बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला गया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार यह सुनिश्चित बना रही है कि राज्य के प्रत्येक घर को अगले वर्ष के अन्त तक गैस कनेक्शन मिले, जिसके लिए मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना के अन्तर्गत लाभार्थियों को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का जन मंच कार्यक्रम लोगों की समस्याओं के त्वरित समाधान की दिशा में बहुत कारगर साबित हो रहा है।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने पावंटा साहिब में 1.25 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित तहसील कार्यालय भवन का शुभारम्भ किया। उन्होंने अजोली-नरिवाला-ज्वालापुर, अप्पर कांशीपुर और किशनकोट की शेष बची बस्तियों और गांवों मुगलोंवाला करतारपुर के लिए उठाऊ सिंचाई योजनाओं को भी लोकार्पित किया। इन योजनाओं पर क्रमशः  2.13 करोड़, 2.03 करोड़ और 1.40 करोड़ रुपये व्यय किए गए और इनसे 376.74 हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचाई सुविधा मिलेगी। उन्होंने खोडांवाला खाला और मेहरूवाला खाला पर 80 लाख रुपये की लागत से बनने वाले दो बॉक्स सैल पुलों की आधारशिला रखी।

मुख्यमंत्री ने पुरूवाला में राज्य विद्युत परिषद के उपमण्डल का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि पुरूवाला, राजपुरा, बंगाणी और भुंगारनी के चार अनुभागों को इस उपमण्डल से जोड़ा गया है। इससे गिरिपार क्षेत्र के लगभग 55,000 लोगों को बेहतर विद्युत आपूर्ति की सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस उपमण्डल के माध्यम से  हर माह एक करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त होगा।

उन्होंने अमरगढ़ और गोरखुवाला में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने और उच्च पाठशाला मुगलोंवाला को वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में स्तरोन्नत करने, वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गोरखुवाला में विज्ञान कक्षाएं आरम्भ करने, राजकीय महाविद्यालय बरेली के भवन निर्माण कि लिए दो करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि देने, गुरू गोबिन्द सिंह डिग्री कालेज पांवटा साहिब में अंग्रेजी व राजनीतिक विज्ञान विषयों में स्नातकोत्तर कक्षाएं आरम्भ करने तथा क्षेत्र की विभिन्न सम्पर्क सड़कों के निर्माण और रखरखाव के लिए 70 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि अंबोया में आईटीआई खोलने के मामले पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *