हिमाचली परम्पराओं का हर कीमत पर संरक्षण जरूरी : मुख्यमंत्री

हिमाचली परम्पराओं का हर कीमत पर संरक्षण जरूरी : मुख्यमंत्री

नई दिल्ली: नई दिल्ली में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर आज जिला मंडी जन कल्याण सभा के हिमाचली मिलन कार्यक्रम, 57वें वार्षिक समारोह तथा सायर महोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए, जबकि सांसद राम स्वरुप शर्मा ने समारोह की अध्यक्षता की। इस अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वह ईमानदारी से राज्य के लोगों की सेवा करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे और कहा कि वह मंडी के लोगों के ऋणी है और उनकी अपेक्षाओं को पूरी करने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा कि वह उत्कृष्टता के साथ प्रदर्शन का प्रयास करेंगे ताकि हिमाचल प्रदेश विकास के शिखर को छू सकें। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार केवल सकारात्मक एजेंडा के साथ काम करेगी और लोगों का कल्याण सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगा।

जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की समृद्ध परंपराएं हैं और उन्हें हर कीमत पर जिंदा रखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें अपनी संस्कृति, परंपराओं और जड़ों को नहीं भूलना चाहिए। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी को हमारी सांस्कृतिक विरासत से अवगत कराया जाना चाहिए और परंपराओं को आगे ले जाना चाहिए, तभी हमारी पहचान कायम रहेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सायर महोत्सव हिमाचल के लोगों विशेष रूप से मंडी के लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण है और फसल की कटाई के उपरांत तक मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि बहुत सी स्थानीय परंपराएं इससे जुड़ी हैं और इसे उत्साहपूर्व के साथ मनाया जाता है। उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में रहने वाले हिमाचली समुदाय से राज्य के लोगों की सेवा में समर्थन का आग्रह किया, जो मातृभूमि के लिए एक सच्ची सेवा होगी। उन्होंने यह भी आग्रह किया कि परंपराओं को जीवित रखें।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *