स्वास्थ्य मंत्री अधिकारियों को बोले : आईजीएमसी व प्रदेश के स्वास्थ्य संस्थानों में बुनियादी सुविधाओं के लिए की गई घोषणाओं को जल्द पूरा करने के हों प्रयास

स्वास्थ्य मंत्री अधिकारियों को बोले : आईजीएमसी व प्रदेश के स्वास्थ्य संस्थानों में बुनियादी सुविधाओं के लिए की गई घोषणाओं को जल्द पूरा करने के हों प्रयास

  • स्वास्थ्य मंत्री का स्वास्थ्य संस्थानों में अधोसंरचना विकसित करने पर बल
  • आईजीएमसी में अगले वर्ष शुरू होगी किडनी प्रत्यारोपण सुविधा

शिमला: अगले वर्ष शिमला के आईजीएमसी में किडनी प्रत्यारोपण की सुविधा आरम्भ कर दी जाएगी और इसके लिए आवश्यक अधोसंरचना, उपकरण तथा मेडिकल व पैरा मेडिकल स्टॉफ की व्यवस्था की जा रही है। यह बात आज स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने आज आईजीएमसी में स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों के साथ स्वास्थ्य सुविधाओं व निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने इस सुविधा के लिए बजट प्रावधान पर भी चर्चा की।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा आईजीएमसी तथा प्रदेश के स्वास्थ्य संस्थानों में बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने के लिए की गई घोषणाओं को जल्द से जल्द पूरा करने के प्रयास किए जाने चाहिए ताकि इनका लाभ राज्य के लोगों मिल सके। उन्होंने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य संस्थानों के निर्माण कार्यों में तेजी लाई जाए और निर्माण की गुणवत्ता की सम्बन्धित अधिकारी निजी तौर पर निगरानी करें।

बैठक में विशेष सचिव स्वास्थ्य निपुन जिन्दल, आईजीएमसी के प्राचार्य डॉ. रवि शर्मा, निदेशक चिकित्सा शिक्षा अशोक शर्मा, प्राचार्य मेडिकल कॉलेज हमीरपुर अनिल चौहान, चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जनक, प्राचार्य दन्त महाविद्यालय डॉ. आशा, मेडिकल कॉलेज नेरचौक से पंकज शर्मा तथा स्वास्थ्य विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे। 

स्वास्थ्य मंत्री ने इस अवसर पर आईजीएमसी सहित राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों में संकाय की कमी, मशीनरी तथा उपकरणों की स्थिति के अलावा भारतीय चिकित्सा परिषद द्वारा इन संस्थानों के निरीक्षण के दौरान पाई गई कमियों को दूर करने के लिए कॉलेज प्राचार्यों व अन्य सम्बन्धित अधिकारियों को विस्तृत खाका तैयार कर शीघ्र उन्हें सौंपने को कहा। उन्होंने कहा कि नेरचौक मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशियलिटी का लोकार्पण मुख्यमंत्री द्वारा निकट भविष्य में किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों से इस भवन के छत की मुरम्मत करने तथा शेष निर्माण कार्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने आईजीएमसी के सराय भवन की भी शीघ्र मुरम्मत करने के निर्देश दिए ताकि तीमारदारों को ठहरने की सुविधा मिल सके।

अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य बी.के. अग्रवाल ने कहा कि राज्य के नए मेडिकल कॉलेजों के भवनों का निर्माण किया जाना है और इसके लिए उन्होंने निविदा प्रक्रिया शीघ्र पूरी करने के लिए कॉलेज प्रशासन को निर्देश दिए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *