किन्नौर : करछम-सांगला मार्ग चट्टानें गिरने के कारण पूरी तरह से अवरुद्ध, प्रशासन की ओर से मार्ग को खोलने के प्रयास तेज

किन्नौर : करछम-सांगला मार्ग चट्टानें गिरने के कारण पूरी तरह से अवरुद्ध, प्रशासन की ओर से मार्ग को खोलने के प्रयास तेज

किन्नौर: किन्नौर जिला के पर्यटन स्थल सांगला को जोडऩे वाला मार्ग चट्टानें गिरने के कारण अवरुद्ध हो गया है। इससे सांगला घाटी का यातायात संपर्क देश-दुनिया से कट गया है। रविवार को करछम-सांगला मार्ग ऋतुरंग के समीप चट्टानें गिरने के कारण पूरी तरह से अवरुद्ध हो गया। यहां लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा है। प्रशासन की ओर से मार्ग को खोलने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं लेकिन स्थिति को देखते हुए सोमवार तक मार्ग के बहाल होने की संभावनाएं कम हैं। सांगला घाटी में हर दिन हजारों की संख्या में पर्यटक आते हैं और यह मुख्य मार्ग बंद रहा तो घाटी सहित 7 पंचायतें चांसू, कामरु, सांगला, थेमगारंग, बटसेरी, कच्छम व छितकुल दुनिया से कटी रहेंगी।

आवाजाही के सभी साधन बंद हैं और पैदल चलना खतरे से खाली नहीं है। पहाड़ी से छोटे-छोटे पत्थर गिर रहे हैं। यदि जल्द इस मार्ग को नहीं खोला गया तो इंडो-तिब्बत बॉर्डर एरिया छितकुल मस्तरंग में स्थित आई.टी.बी.पी. के कई जवानों व सुरक्षा बलों के कार्यों पर भी प्रभाव पड़ सकता है। कार्यकारी जिलाधीश किन्नौर अवनिंद्र शर्मा का कहना है कि सांगला के समीप ऋतुरंग मार्ग को खोलने का कार्य जारी है और प्रशासन की ओर से इसे जल्दी खोलने की कोशिश की जा रही है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *